INDvsNZ: वेलिंगटन में भी फ्लॉप हुए टीम इंडिया के सितारे, धोनी की वापसी रही बेअसर

टीम इंडिया के न्यूजीलैंड दौरे के आखिरी वनडे मैच में एक बार फिर भारतीय बल्लेबाजों के सितारों की कमजोरी उभर के सामने आ गई. हैमिल्टन में एक बार शर्मसार कर चुके भारतीय दिग्गज बल्लेबाज वेलिंगटन में भी फ्लॉप साबित हुए. टीम इंडिया को इस बार अच्छी शुरुआत दिलाने की कोशिश करने में एक इस बार भी टीम का शीर्ष क्रम नाकाम रहा और केवल 18 रन पर चार खिलाड़ी आउट हो गए जिनमें कप्तान रोहित शर्मा, शिखर धवन, शुभमन गिल और एमएस धोनी शामिल थे. 

 हैमिल्टन में टीम इंडिया न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के आगे नतमस्तक होकर केवल 92 रन पर सिमट गई थी जहां पहले चार विकेट 33 रन पर गिर गए थे. वहीं वेलिंगटन में पहले चार विकेट केवल 18 रन पर गिर गए. टीम की शुरुआत में कप्तान रोहित डिफेंसिव खेलते दिखे लेकिन वे न्यूजीलैंड की सीम गेंदबाजी से चकमा खाते ही रहे और अंत में पांचवे ओवर में मैट हेनरी की शानदार आउट स्विंगर पर बोल्ड हो गए. उस समय टीम का स्कोर केवल 8 रन था. इसके बाद शिखर धवन ट्रेंट बोल्ट के बाउंसर को थर्ड मैन की दिशा में ऊंचा शॉट खेल बैठे और मैट हेनरी को कैच देकर केवल 6 रन बनाकर आउट हो गए. 

इसके बाद शुभमन गिल भी 7वें ओवर में 11 गेंदों पर 7 रन बनाकर  मैट हेनरी की गेंद पर मिचेल सैंटनर को कवर पर कैच दे बैठे और पवेलियन वापस चले गए.  यहां एमएस धोनी के आने से टीम इंडिया के फैंस को उम्मीद बंधी कि धोनी टीम इंडिया की पारी को पिछले कुछ मैचों की तरह पार लगाएंगे, लेकिन वे भी न्यूजीलैंड की स्विंग गेंदबाजी को समझने में परेशानी महसूस करते दिखे और केवल छह गेंदों पर ही ट्रेंट बोल्ड की गेंद पर बोल्ड हो गए और इस तरह 10 ओवर से पहले ही टीम इंडिया के केवल 18 रन पर चार विकेट गिर गए. 

टॉस जीतने के बाद इस तरह की बातें कर रहे थे रोहित 
रोहित ने टॉस जीतने के बाद कहा, “हम पहले बल्लेबाजी करेंगे.  पिच अच्छी लग रही है, कुछ नमी हो सकती है, लेकिन हम खुद ऐसी ही परिस्थिति में परखना चाहते हैं. पिछले मैच में शर्मनाक हार के बाद हम बेहतर खेल दिखाना चाहते हैं. हमारी टीम में तीन बदलाव किए गए हैं. एमएस धोनी दिनेश कार्तिक की जगह आए हैं. शमी खलील और विजय शंकर कुलदीप यादव की जगह आए हैं. हमारे कुछ ट्रेनिंग सेशन हुए थे और ऐसा नहीं है कि इस तरह के हालात में हमारे खिलाड़ी नहीं रहे हैं. यदि हम पिछले मैच में 180-200 रन बना पाते चीजें काफी अलग होतीं. हम मानते हैं कि हमने गलतियां की और लड़के प्रतिबद्ध हैं. इन दिनों पहले 6-7 ओवरों में हालातों को सही आंकना कापी अहम हो जाता है जहां से खेल आगे ले जाया जा सके. यदि हम पहले बल्लेबाजी करें तो अच्छा स्कोर कर सकते हैं. 

Loading...
E-Paper