खिलजी जैसा बताने पर जया प्रदा से बोले आजम- ‘नाचने वाली के मुंह नहीं लगता’

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान और अभिनेत्री से नेता बनीं जया प्रदा के बीच जुबानी जंग फिर से शुरू हो गई है. इस बार आजम खान ने जया प्रदा पर हमला किया है और इस दौरान वह शालीनता की सीमाएं भी लांघ गए हैं. कुछ दिनों पहले जया प्रदा ने कहा था कि उन्होंने फिल्म पद्मावत देखी और कहा कि इसमें अलाउद्दीन खिलजी के किरदार को देखकर उन्हें आजम खान की याद आ गई.

इसके बाद आजम खान ने एक रैली में जया प्रदा को जवाब दिया. उनके इस जवाब से नया विवाद भी पैदा हो सकता है. आजम खान ने कहा, ‘पद्मावत बनी. सुना है खिलजी का रोल बहुत बुरा है. सुना है पद्मावती ने खिलजी के आने से पहले दुनिया छोड़ दी. मगर अभी एक औरत ने, एक नाचने वाली ने खादिम के बारे में कुछ कहा है. अब बताओ, नाचने-गाने वालों के मुंह लगेंगे तो सियासत कैसे करेंगे.’

इससे पहले, जया प्रदा ने विवादों में रही संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत देखने के बाद पत्रकारों से कहा था, ‘फिल्म में खिलजी को देखकर मुझे आजम खान जी की याद आ गई . चुनाव के दौरान उन्होंने मुझे कैसे परेशान किया था, इसकी याद आ गई.’ जया प्रदा को राजनीति में लाने वाले आजम खान ही हैं. उन्होंने जया प्रदा को समाजवादी पार्टी में शामिल करवाया और उनके लिए चुनाव प्रचार भी किया था. 2004 तक जया प्रदा टीडीपी नेता थीं. आजम खान की मदद से जया प्रदा ने रामपुर से 85 हजार वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी.

बाद में जया प्रदा के अमर सिंह के कैंप में चले जाने की वजह से उनके और आजम खान के बीच दूरियां बढ़ गई थीं. बाद में आजम ने जया प्रदा के खिलाफ प्रचार किया था. हालांकि जया प्रदा आजम के विरोध के बावजूद दो बार जीतीं. 2010 में जया प्रदा और अमर सिंह को समाजवादी पार्टी से निकाल दिया गया था.

Loading...