नगालैंड को हराकर 17 साल बाद बिहार ने किया जीत से आगाज

- in प्रदेश, बिहार

कप्तान प्रज्ञान ओझा उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे, लेकिन पटना की तिकड़ी बाबुल, केशव और समर कादरी के कमाल से बिहार ने 17 साल बाद विजय हजारे ट्रॉफी में खेलते हुए जीत से धमाकेदार आगाज किया। आनंद (गुजरात) के शास्त्री मैदान पर बुधवार को खेले गए पहले मुकाबले में बिहार ने नगालैंड को आठ विकेट से करारी शिकस्त देकर चार अंक हासिल किए।कप्तान प्रज्ञान ओझा उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे, लेकिन पटना की तिकड़ी बाबुल, केशव और समर कादरी के कमाल से बिहार ने 17 साल बाद विजय हजारे ट्रॉफी में खेलते हुए जीत से धमाकेदार आगाज किया। आनंद (गुजरात) के शास्त्री मैदान पर बुधवार को खेले गए पहले मुकाबले में बिहार ने नगालैंड को आठ विकेट से करारी शिकस्त देकर चार अंक हासिल किए।  सबसे पहले समर कादरी, केशव कुमार ने अपने स्पिन के जाल में उलझाकर नगालैंड को अच्छी शुरुआत के बावजूद निर्धारित 50 ओवर में आठ विकेट पर 253 रनों पर रोक दिया। समर ने 3, केशव और रेहान ने 2-2 विकेट लिए। जवाब में बाबुल (नाबाद 121 रन, 119 गेंद) और केशव (नाबाद 76, 69 गेंद) की पारियों से बिहार ने लक्ष्य को 43.4 ओवर में दो विकेट गंवाकर हासिल कर लिया।  बाबुल और केशव की अच्छी पारी   बिहार का पहला विकेट कुंदन शर्मा के रूप में आठ रन पर गिर गया था। इसके बाद बाबुल ने विकास रंजन के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 116 रन जोड़कर टीम को संकट से उबारा। 124 रन पर विकास (47 रन) के आउट होने के बाद केशव मैदान पर उतरे। इसके बाद दोनों ने बगैर जुदा हुए बिहार को शानदार जीत दिला दी।     बिहार: अपराधियों ने भाजपा नेता के शोरूम पर की अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत यह भी पढ़ें नगालैंड की ताबड़तोड़ शुरुआत   टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी नगालैंड की टीम ने ताबड़तोड़ शुरुआत की। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसके उद्घाटक बल्लेबाज नितेश और सेदजाले ने 8.3 ओवर में 50 रन जोड़ दिए। रन गति को कायम रखते हुए दोनों ने 16.5 ओवर में शतकीय साझेदारी भी पूरी कर ली।  इस दौरान दोनों ने तेज गेंदबाज अनुनय नारायण सिंह और कप्तान प्रज्ञान ओझा की गेंदों पर मनमाफिक रन बटोरे। पूरे मैच में दोनों विकेट के लिए तरसे। अनुनय ने जहां 7 ओवर में 46 रन दिए, वहीं प्रज्ञान ने 8 ओवर में 48 रन लुटाए।  समर और केशव ने कराई वापसी   मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड: SC से आज मीडिया कवरेज पर जारी हो सकती है गाइडलाइन यह भी पढ़ें मैच हाथ से निकलते देख प्रज्ञान ने स्वयं को मोर्चे से हटाते हुए स्पिनर समर कादरी और केशव कुमार को गेंदबाजी सौंपी। यह फैसला सही साबित हुआ। पहले समर ने नितेश को 79 के व्यक्तिगत स्कोर पर चलता किया।  इसके बाद केशव ने उसके जोड़ीदार सेदजाले को 35 रन पर बाबुल के हाथों लपकवाकर नगालैंड को दोहरा झटका दिया। 116 के स्कोर पर दो विकेट गिरने के बाद अबरार काजी और पवन ने नगालैंड के स्कोर को डेढ़ सौ के पार पहुंचाया।   बिहार कांग्रेस अध्यक्ष नहीं बने तो छलका कादरी का दर्द, बोले- झाड़ू भी लगा लूंगा यह भी पढ़ें बिहार के गेंदबाजों ने कसा शिकंजा    152 के स्कोर पर अबरार  को केशव ने पगबाधा किया और 157 पर पवन को बोल्ड कर बिहार को वापसी की राह दिखाई और इसके बाद गेंदबाजों ने नगालैंड पर शिकंजा कसना शुरू किया। तेज गेंदबाज दीवान रेहान खान ने नौ गेंद के अंदर दो बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। बहरहाल इन झटकों के बावजूद नगालैंड ने निचले क्रम के बल्लेबाज इमलीवती की तेज पारी से 250 का आंकड़ा पार कर लिया।

सबसे पहले समर कादरी, केशव कुमार ने अपने स्पिन के जाल में उलझाकर नगालैंड को अच्छी शुरुआत के बावजूद निर्धारित 50 ओवर में आठ विकेट पर 253 रनों पर रोक दिया। समर ने 3, केशव और रेहान ने 2-2 विकेट लिए। जवाब में बाबुल (नाबाद 121 रन, 119 गेंद) और केशव (नाबाद 76, 69 गेंद) की पारियों से बिहार ने लक्ष्य को 43.4 ओवर में दो विकेट गंवाकर हासिल कर लिया।

बाबुल और केशव की अच्छी पारी

 बिहार का पहला विकेट कुंदन शर्मा के रूप में आठ रन पर गिर गया था। इसके बाद बाबुल ने विकास रंजन के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 116 रन जोड़कर टीम को संकट से उबारा। 124 रन पर विकास (47 रन) के आउट होने के बाद केशव मैदान पर उतरे। इसके बाद दोनों ने बगैर जुदा हुए बिहार को शानदार जीत दिला दी।  

नगालैंड की ताबड़तोड़ शुरुआत

 टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी नगालैंड की टीम ने ताबड़तोड़ शुरुआत की। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसके उद्घाटक बल्लेबाज नितेश और सेदजाले ने 8.3 ओवर में 50 रन जोड़ दिए। रन गति को कायम रखते हुए दोनों ने 16.5 ओवर में शतकीय साझेदारी भी पूरी कर ली।

इस दौरान दोनों ने तेज गेंदबाज अनुनय नारायण सिंह और कप्तान प्रज्ञान ओझा की गेंदों पर मनमाफिक रन बटोरे। पूरे मैच में दोनों विकेट के लिए तरसे। अनुनय ने जहां 7 ओवर में 46 रन दिए, वहीं प्रज्ञान ने 8 ओवर में 48 रन लुटाए।

Loading...

समर और केशव ने कराई वापसी

मैच हाथ से निकलते देख प्रज्ञान ने स्वयं को मोर्चे से हटाते हुए स्पिनर समर कादरी और केशव कुमार को गेंदबाजी सौंपी। यह फैसला सही साबित हुआ। पहले समर ने नितेश को 79 के व्यक्तिगत स्कोर पर चलता किया।

इसके बाद केशव ने उसके जोड़ीदार सेदजाले को 35 रन पर बाबुल के हाथों लपकवाकर नगालैंड को दोहरा झटका दिया। 116 के स्कोर पर दो विकेट गिरने के बाद अबरार काजी और पवन ने नगालैंड के स्कोर को डेढ़ सौ के पार पहुंचाया।

बिहार के गेंदबाजों ने कसा शिकंजा  

152 के स्कोर पर अबरार  को केशव ने पगबाधा किया और 157 पर पवन को बोल्ड कर बिहार को वापसी की राह दिखाई और इसके बाद गेंदबाजों ने नगालैंड पर शिकंजा कसना शुरू किया। तेज गेंदबाज दीवान रेहान खान ने नौ गेंद के अंदर दो बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। बहरहाल इन झटकों के बावजूद नगालैंड ने निचले क्रम के बल्लेबाज इमलीवती की तेज पारी से 250 का आंकड़ा पार कर लिया।

Loading...