CPEC के खिलाफ ब्रिटेन में बलोच का प्रदर्शन, चीन-पाक पर लगाया गंभीर आरोप

लंदन। चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीइसी) को लेकर बलोच समुदाय का दुनियाभर में प्रदर्शन जारी है। फ्री बलूचिस्‍तान मूवमेंट नामक संगठन ने ब्रिटेन की राजधानी लंदन स्थित ग्रॉसवेनर होटल के बाहर दो दिवसीय प्रदर्शन का आयो‍जन किया। इसका मकसद पाकिस्‍तान के ग्‍वादर शहर में ‘वन इंवेस्‍टमेंट्स’ नामक प्राॅपटी डीलर द्वारा बलोच जमीनों की बिक्री का विरोध करना था।

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि चीन और पाकिस्‍तान का मकसद ग्‍वादर में सैकड़ों-हजारों की संख्‍या में पंजाबियों और चीनियों को बसाकर बलूचिस्‍तान की जनसांख्यिकी को बदलना है। प्रदर्शनकारियों ने प्‍ले कार्ड और बैनर के माध्‍यम से सीपीइसी के खिलाफ प्रदर्शन किया, जिनमें पाकिस्‍तान द्वारा ग्‍वादर में बलोच जमीनों को बेचने और बलूचिस्‍तान में मानवाधिकार उल्‍लंघनों का आरोप लगाया गया था।

फ्री बलूचिस्‍तान मूवमेंट के एक कार्यकर्ता फैज बलूच ने कहा कि उनके संगठन ने चीन और पाकिस्‍तान की संयुक्‍त परियोजना और ग्‍वादर में बलोच जमीनों की बिक्री के खिलाफ दो दिवसीय प्रदर्शन का आयोजन किया है। उन्‍होंने कहा कि बलोच लोगों ने अंतरराष्‍ट्रीय निवेशकों से अनुरोध किया है कि जब तक बलूचिस्‍तान का मुद्दा सुलझ नहीं जाता तब तक वे इस तर‍ह के तथाकथित विकास परियोजनाओं में अपना पैसा लगाना बंद करें।

फैज ने आरोप लगाया कि पाकिस्‍तान ने अवैध रूप से बलूचिस्‍तान पर कब्‍जा जमाया है और तब से वह बलूच लोगों के खिलाफ अत्‍याचार कर रहा है। उन्‍होंने कहा, हम आज यहां एकत्रित हुए हैं, क्‍योंकि पाक सेना लगातार ग्‍वादर, तुरबत, कोलवा, डेरा बुग्‍ती और बलूचिस्‍तान के कई अन्‍य इलाकों में अत्‍याचार कर रही है। वे निर्दोष बलोच महिलाओं और बच्‍चों को मार रहे हैं। वे गिरफ्तार कर रहे हैं और कई बलोच लापता हैं।

फैज ने आगे कहा कि बलोच लोगों के खिलाफ इन अत्‍याचारों में चीन पाकिस्‍तान का साथ दे रहा है। उन्‍होंने कहा, अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय का निवेश और समर्थन पाकिस्‍तान को बलोच नरसंहार को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्‍साहित कर रहा है। इसलिए हम अंतराष्‍ट्रीय समुदाय से अनुराेध करते हैं कि वे पाकिस्‍तान का समर्थन करना बंद करें।

Loading...
E-Paper