‘शटडाउन’ खत्‍म करने के लिए डोनाल्‍ड ट्रंप ने सुझाया संवैधानिक विकल्‍प

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रिपब्लिकन को सुझाव दिया है कि वह तथाकथित ‘परमाणु-विकल्प’ (न्यूक्लियर ऑप्शन) का इस्तेमाल करें, जिसमें 100 सदस्यों वाली सीनेट में 60 की बजाए साधारण बहुमत हासिल करने की जरूरत है। फिलहाल अमेरिका में पांच साल में पहली बार सरकारी कामकाज बंद होने को लेकर डेमोक्रेट्स के साथ गहन बातचीत का दौर जारी है।

'शटडाउन' खत्‍म करने के लिए डोनाल्‍ड ट्रंप ने सुझाया संवैधानिक विकल्‍प

अमेरिकी कांग्रेस कार्रवाई में बमुश्किल इस्तेमाल होने वाला परमाणु या संवैधानिक विकल्प एक संसदीय प्रक्रिया है, जो अमेरिकी सीनेट को किसी नियम या कानून को बहुमत वोट के जरिए निरस्त करने की इजाजत देती है। सीनेट के बहुमत नेता मिच मैककॉनेल ने कहा कि रिपब्लिकन द्वारा इस विकल्प के इस्तेमाल की संभावना बेहद कम है। संघीय सरकार के लाखों कर्मचारी काम पर नहीं लौटेंगे, क्योंकि सीनेट ने संघीय सरकार के खर्चों के लिए धन देने वाले जरूरी विधेयक को डेमोक्रेटिक सीनेटरों के विरोध के चलते पारित नहीं किया।

इस कारण मुश्किल में यूएस 

मौजूदा समय में अमेरिका में बड़ा आर्थिक संकट पैदा हो गया है और वो भी ट्रंप के राष्‍ट्रपति कार्यकाल के एक साल पूरे होने के मौके पर। इसकी वजह से वह जश्‍न भी नहीं मना पाए। दरअसल सरकारी खर्चों को लेकर एक अहम आर्थिक विधेयक पर सांसद की मंजूरी नहीं मिल सकी, जिस कारण अमेरिकी सरकार को शटडाउन करना पड़ा। इसका मतलब यह हुआ कि अब वहां कई सरकारी विभाग बंद करने पड़ेंगे और लाखों कर्मचारियों को बिना सैलरी के घर बैठना होगा। आपको बता दें कि अमेरिका में एंटी डेफिशिएंसी एक्ट लागू है, जिसमें फंड की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है।

पहले भी हो चुका है शटडाउन
अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका नहीं है, जब सरकार को शटडाउन से जूझना पड़ रहा है। इससे पहले अक्टबूर 2013 में बराक ओबामा के राष्ट्रपति रहने के दौरान भी दो हफ्तों तक संघीय एजेंसियों को बंद करना पड़ा था, जिस कारण 8 लाख कर्मचारियों को बगैर वेतन के घर बैठना पड़ा। वहीं 1981, 1984, 1990 और 1995-96 में भी शटडाउन की नौबत आ चुकी है।

ट्रंप के खिलाफ बढ़ा विरोध 

राष्ट्रपति के रूप में शनिवार को एक साल पूरा करने वाले ट्रंप का अमेरिका में विरोध बढ़ गया है। कई अमेरिकी शहरों में लाखों महिलाएं अपने पुरुष समर्थकों के साथ सड़कों पर उतरीं और ट्रंप के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। ह्वाइट हाउस में ट्रंप का पहला साल काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है। उन्होंने पिछले साल 20 जनवरी को अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी। हालांकि ट्रंप ने इन प्रदर्शनों पर तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘हमारे देश में बहुत खुशनुमा मौसम है। यह महिलाओं की रैली के लिए सबसे अच्छा दिन है। पिछले 12 महीने में ऐतिहासिक उपलब्धियों और अप्रत्याशित आर्थिक सफलताओं की खुशी मनाने के लिए बाहर निकलो। पिछले 18 साल में महिला बेराजगारी सबसे कम है।’

 

Loading...
E-Paper