15 अगस्त तक आर-पार हो जाएगी डाट काली की सुरंग, देहरादून हाईव पर अब..

देहरादून-दिल्ली एक्सप्रेस-वे का काम बरसात में भी पूरी रफ्तार से जारी है। डाटकाली में बन रही थ्री-लेन सुरंग 15 अगस्त तक आर-पार हो जाएगी। 12 किमी एलिवेटेड रोड के लिए 300 पिलरों की बुनियाद डाली जा चुकी है। 125 पिलर खड़े हो चुके हैं। इस साल आखिर तक सुपर स्ट्रक्चर यानी पिलरों के ऊपर एलिवेटेड रोड बननी शुरू हो होगी। इस प्रोजेक्ट का काम 2024 तक पूरा होना है।

देहरादून में पीएम मोदी ने चार दिसंबर 2021 को दून-दिल्ली एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास किया था। इसके तहत डाटकाली में 340 मीटर की नई सुरंग बनाई जा रही है। थ्री-लेन सुरंग की चौड़ाई 13 मीटर और ऊंचाई सात मीटर होगी। पहले चरण में कर्व का हिस्सा कट रहा है, जिसकी ऊंचाई तीन मीटर है।

15 अगस्त तक सुरंग आर-पार होने पर अंदर मशीनें आ-जा सकेंगी। एनएचएआई के इंजीनियर रोहित पंवार ने बताया कि उत्तर प्रदेश के गणेशपुर से आशारोड़ी तक चौथे चरण का काम चल रहा है। 15 फीसदी काम  हो गया है। सालभर में काम पूरा होगा।

एलिवेटेड रोड के लिए 125 पिलर तैयार
डाटकाली से गणेशपुर तक 12 किमी एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे बनना है, जो बरसाती नदी के ऊपर बनाया जा रहा है। बारिश के बावजूद काम तेजी से जारी है। यहां कुल 500 पिलर बनाए जाने हैं। 300 पिलरों की बुनियाद खोदी जा चुकी है। जबकि, 125 पिलर बनकर खड़े हो चुके हैं।

डाटकाली से आशारोड़ी के बीच भी काम शुरू
इस एक्सप्रेस-वे का 1.8 किमी हिस्सा डाटकाली से आशारोड़ी तक उत्तराखंड की सीमा में है। पेड़ काटने के बाद इस हिस्से पर भी काम शुरू हो गया। यहां पुरानी सड़क एक्सप्रेस-वे में तब्दील होनी है, पर वन्यजीव सुरक्षा को देखते हुए ‘एलिफेंट पास’ बनेंगे। यहां पर एनएचएआई ने काम शुरू किया है।

Loading...
E-Paper