बाबा रामदेव ने कहा-जल्द ही Ruchi Soya को सेबी से FPO लॉन्च करने की मिल जाएगी अनुमति, महीनों में पूरी तरह कर्जमुक्त हो जाएंगी कंपनी

बाबा रामदेव ने उम्मीद जतायी है कि Ruchi Soya को जल्द ही सेबी से FPO लॉन्च करने की अनुमति मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि अनुमति मिलने के बाद जल्द ही FPO को लॉन्च कर दिया जाएगा। हालांकि, उन्होंने स्पष्ट तौर पर तारीख के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। FPO की तारीख को लेकर बाबा रामदेव ने कहा, ”मुझे लगता है जिस तरह से हम लोगों ने काम किया है और किसी भी तरह के अनुपालन नियमों का उल्लंघन नहीं किया है। हर नियम का पूरी तरह अनुपालन किया है। किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। हमें जल्द ही इसकी अनुमति मिलने की उम्मीद है। इसके बाद हम जल्द ही FPO को लॉन्च कर देंगे।”

उल्लेखनीय है कि Ruchi Soya ने जून के दूसरे सप्ताह में FPO लाने के लिए सेबी के समक्ष आवेदन किया था। इस FPO के जरिए कंपनी करीब 4,300 करोड़ रुपये जुटाएगी।

बाबा रामदेव ने ‘दैनिक जागरण’ के साथ बातचीत में एलान किया कि अगले कुछ महीनों में Ruchi Soya पूरी तरह से कर्जमुक्त होगी। बाबा रामदेव ने कहा कि कंपनी को कर्जमुक्त कर देने से निवेशकों का विश्वास और फायदा दोनों बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा, ”हम अपने निवेशकों का ज्यादा से ज्यादा फायदा तब हम दे पाते हैं, जब कंपनी को पूरी तरह से कर्जमुक्त कर देते हैं। इंवेस्टमेंट पर ज्यादा रिटर्न देने के लिए कंपनी को कर्जमुक्त बनाने की हमारी पहली कोशिश है। कंपनी FPO से अर्जित आय का एक हिस्सा कर्ज को चुकाने में करेगी।”

उन्होंने कहा, ”आने वाले कुछ महीनों में ही Ruchi Soya को कर्ज से पूरी तरह से मुक्त कर देंगे।”

Ruchi Soya के CEO संजीव अस्थाना ने कहा, ”कंपनी को लाभप्रद, मजबूत और अच्छी कंपनी बनाने की हमारी पूरी तैयारी है।”

बाबा रामदेव ने कहा कि Ruchi Soya के अधिग्रहण के बाद पतंजलि समूह ने कॉरपोरेट गवर्नेंस, पारदर्शिता एवं जवाबदेही के साथ-साथ कर्मचारियों के भीतर Ownership की भावना उत्पन्न करने के लिए कदम उठाए। उन्होंने कहा कि इन्हीं प्रयासों का नतीजा रहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में कंपनी का कुल टर्नओवर 16,000 करोड़ रुपये के पार पहुंच गया। बाबा रामदेव ने बताया कि अधिग्रहण के बाद से कंपनी के कस्टमर बेस में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। कंपनी का ध्येय आने वाले समय में कस्टमर बेस को दोगुना करना, लाभप्रदता में वृद्धि करना है। उन्होंने साथ ही कहा कि कंपनी जिस सेक्टर में बिजनेस कर रही है, उसमें मार्केट शेयर में वृद्धि करना और मार्केट लीडर बनना अभी कंपनी का लक्ष्य है।

Ruchi Soya का पिछले वित्त वर्ष का 16,000 करोड़ रुपये से अधिक का टर्नओवर और पतंजलि का 14,000 करोड़ रुपये से अधिक का टर्नओवर मिला दिया जाए तो समूह का कुल टर्नओवर 30,000 करोड़ रुपये के ऊपर चला जाता है। ये अपने आप में हमारी बहुत बड़ी ताकत है। इसीलिए बड़ी संख्या में निवेशक हमारी कंपनी में निवेश करना चाहते हैं।

प्रोडक्ट लाइन को लेकर बाबा रामदेव ने बताया कि रुचि गोल्ड, महाकोष कंपनी के पहले से मौजूद Edible Oil ब्रांड्स हैं। नए प्रोडक्ट लाइन को लेकर उन्होंने कहा कि कंपनी आने वाले समय में प्रीमियम फूड प्रोडक्ट बाजार में लाएगी। उन्होंने कहा कि कंपनी जिस बिजनेस में है, उसका मार्केट साइज करीब पांच लाख करोड़ का है। बाबा रामदेव ने कहा, ”हम पांच लाख करोड़ रुपये के मार्केट साइज वाले बिजनेस सेग्मेंट में मार्केट लीडर होंगे क्योंकि इसके लिए हमारे पास जरूरी क्षमता मौजूद है।”

कंपनी के विस्तार को लेकर बाबा रामदेव ने कहा, ”भारतीय बाजार में Ruchi Soya को लीडिंग ब्रांड बनाना हमारा मकसद है। सर्वाधिक मार्केट शेयर हासिल करने के लिए काम करना है। वैश्विक स्तर पर इसके ब्रांड बनाने के लिए कंपनी प्रयास कर रही है। खाद्य तेलों में पाम प्लांटेशन का बहुत अधिक स्कोप है। कंपनी इस दिशा में काम करेगी।”

बाबा रामदेव के पतंजलि समूह ने 2019 में इंसॉल्वेंसी प्रोसेस के जरिए 4,350 करोड़ रुपये में Ruchi Soya का अधिग्रहण किया था।

Loading...
E-Paper