दिनेश सिंह के कांग्रेस छोडऩे पर कांग्रेस जनों में खुशियां, अब सदस्यता पर तलवार

रायबरेली। भाजपा की रैली के मंच से गांधी-नेहरू परिवार व कांग्रेस पार्टी के खिलाफ दिए एमएलसी दिनेश सिंह भाषण पर स्थानीय संगठन ने कड़ा ऐतराज जताया। सााथ ही एमएलसी दिनेश सिंह के पार्टी छोडऩे पर लड्डू बांटकर खुशी भी मनायी। कांग्रेस कार्यालय तिलक भवन के निकट ही जीआइसी का मैदान है। यहीं पर भाजपा की परिवर्तन रैली का आयोजन हुआ, जिसमें एमएलसी संग उनके भाइयों ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया। इस दौरान भाजपा नेताओं संग एमएलसी ने भी अपने भाषण में कांग्रेस व गांधी-नेहरू परिवार को घेरा क्योंकि स्थानीय संगठन भी इस कार्यक्रम पर पूरी नजर बनाए हुए थे। इसलिए रैली खत्म होते ही पहले लड्डू वितरित कर खुशी मनायी। फिर आपसी मंत्रणा के बाद कांग्रेस पर लगे आरोपों का जवाब भी तैयार किया।

भाजपा झूठ के जरिए विकास का ढिंढ़ोरा पीटती 

जिलाध्यक्ष वीके शुक्ल ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री से पूछा कि 960 बेड के एम्स को 600 बेड का क्यों कर दिया गया। इसके निर्माण की गति धीमी कैसे हो गई। कुछ ऐसा ही हाल रेल पहिया कारखाना, मोटर ट्रेनिंग स्कूल व अन्य विकास योजनाओं का है, जिन्हें समय से पूरा नहीं कराया जा रहा। रेल लाइन के प्रोजेक्ट तो शुरू ही नहीं कराए गए। जिलाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा झूठ और अफवाहों के जरिए विकास का ढिंढ़ोरा पीटती है। रायबरेली में ऐसे ही व्यक्ति को साथी बनाकर भाजपा ने अपना चाल व चरित्र उजागर कर दिया है। रायबरेली नेहरू-गांधी परिवार की पवित्र कर्मभूमि है। इनके खिलाफ कुचक्र रचने वालों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष गणेश शंकर पांडेय, शहर अध्यक्ष सईदुल हसन, रमेश शुक्ल, सुनील श्रीवास्तव, कमलाकर वर्मा, विजय शंकर अग्निहोत्री, आशीष द्विवेदी, राजकुमार दीक्षित, अनवार खान आदि मौजूद रहे। 

एमएलसी की सदस्यता रद् कराने की कवायद

विधान परिषद में कांग्रेस सचेतक एमएलसी दीपक सिंह भी शनिवार को कांग्रेस कार्यालय में आपसी मंत्रणा के दौरान मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि दल बदल कानून पर सुप्रीम कोर्ट के नियमानुसार पर पार्टी में दो तिहाई बहुमत की आवश्यकता होती है। क्योंकि कांग्रेस के दो ही सदस्य विधान परिषद में हैं। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने अकेले पार्टी छोड़ी है। इसलिए विधान परिषद अध्यक्ष से नियमानुसार मांग करेंगे की एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह की सदस्यता समाप्त की जाए।  

Loading...

दिनेश की सदस्यता पर तलवार

रायबरेली स्थानीय निकाय निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दिनेश प्रताप सिंह शनिवार को भाजपा में शामिल हुए तो उनकी सदस्यता पर तलवार लटक गई। कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह ने कहा कि दिनेश सिंह ने भाजपा में शामिल होकर पार्टी विरोधी गतिविधि और दलीय संहिता का उल्लंघन किया है। दीपक ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के अनुसार दो तिहाई बहुमत के आधार पर ही दल बदल की मंजूरी मिल सकती है। दीपक ने कहा कि दिनेश प्रताप सिंह के दल बदल करने पर कांगेस पार्टी उनकी सदस्यता खत्म करने की नोटिस देगी। दीपक ने दावा किया कि प्रमाणित दल-बदल के आधार पर इनकी सदस्यता समाप्त हो जाएगी।

Loading...