लखनऊ में अब विधानसभा मार्ग व आसपास नहीं होगा कोई धरना प्रदर्शन

लखनऊ। धरना-प्रदर्शन से जाम व अन्य दिक्कतों के दृष्टिगत विधानसभा मार्ग व आसपास के क्षेत्र में सभी प्रकार के प्रदर्शनों पर अब प्रतिबंध होगा। आयुक्त लखनऊ मंडल की अध्यक्षता में गठित समिति की संस्तुति पर लक्ष्मण मेला स्थल तथा काशीराम जनसुविधा परिसर व पार्किंग स्थल को धरना स्थल बनाया गया है।

डीआइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि जिन धरना-प्रदर्शन में 300 से कम लोग प्रतिभाग करेंगे, क्रमिक नहीं होंगे और जिनमें प्रतिभागी वाहन नहीं लाएंगे, उन्हें लक्ष्मण मेला स्थल पर अनुमति दी जाएगी। यदि किसी दिन एक से अधिक धरना-प्रदर्शन होंगे, तो पहले आने वाले को पहले धरना-प्रदर्शन की अनुमति प्रदान की जाएगी। जिन प्रदर्शन में 300 से अधिक लोग प्रतिभाग करेंगे उन्हें काशीराम जनसुविधा परिसर व पार्किंग स्थल पर धरना प्रदर्शन करने की अनुमति दी जाएगी।

डीआइजी ने बताया कि विधानसभा मार्ग, हजरतगंज चौराहा, सचिवालय, वीवीआइपी गेस्ट हाउस, कालीदास मार्ग, पार्क रोड, महात्मा गांधी मार्ग, उच्च न्यायालय गेस्ट हाउस सहित आसपास के पूरे क्षेत्र को सभी प्रकार के प्रदर्शन के लिए प्रतिबंधित किया गया है। डीजीपी ओपी सिंह ने इस प्रतिबंध का कड़ाई से पालन कराने का निर्देश दिया है। यदि प्रदर्शनकारी इस प्रतिबंधित क्षेत्र में एकत्रित होते हैं, तो उस संगठन के पदाधिकारियों/आयोजकों के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।

इसके साथ ही राजमार्गों व प्रमुख मार्गों को भी धरना-प्रदर्शन के लिए प्रतिबंधित किया गया है। वहां कोई प्रदर्शन होने की स्थिति में संबंधित संगठन के पदाधिकारियों व प्रदर्शन में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसी प्रदर्शन के दौरान तोडफ़ोड़ अथवा आगजनी कर संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जाता है तो उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार क्षतिपूर्ति की जाएगी।

Loading...

लाठी-डंडे लेकर नहीं आ सकेंगे प्रदर्शनकारी

डीजीपी ने कहा है कि पुलिस अधिकारी प्रदर्शन के आयोजकों से मिलकर प्रदर्शन का ऐसा रास्ता व शर्त तय करायेंगे, जिससे प्रदर्शन शांतिपूर्ण हो और लोगों को दिक्कत न हो। सभी प्रकार के अस्त्र-शस्त्र, लाठी-डंडे सहित प्रदर्शन प्रतिबंधित होगा। डीजीपी ने कहा कि आयोजकों से इस बाबत शपथ पत्र भी लिए जाएगें। पुलिस-प्रशासन प्रदर्शनों की वीडियोग्राफी भी करायेगा।

ऐसे प्रदर्शनों के मौके पर जाने वाले अधिकारी व पुलिसकर्मी दंगा निरोधक उपकरणों, लाउडहेलर, टियर गैस गन व रबर बुलेट से लैस रहेंगे। जहां तक संभव हो पुलिस समझा-बुझाकर प्रदर्शनकारियों को शांत कराए। पुलिस पूरी तरह से चेतावनी देने के बाद ही न्यूनतम बल प्रयोग करे।  

Loading...