कप्तान मनीष पांडे ने छक्कों की बारिश कर ठोका तूफानी शतक फिर भी हार गई उनकी टीम

Loading...

टीम इंडिया के लिए वेस्टइंडीज दौरे पर टी20 इंटरनेशनल सीरीज में खास कमाल नहीं दिखा पाने वाले मनीष पांडे ने कर्नाटक प्रीमियर लीग 2019 के पहले ही मैच में शतक ठोका है। वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टी20 इंटरनेशनल मैचों में मनीष पांडे कुल मिलाकर 30 रन नहीं बना पाए थे, लेकिन अपने प्रदेश की टी20 लीग में खेलते हुए उन्होंने शतक जड़ दिया। 

 

कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) 2019 की फ्रेंचाइजी बेलगावी पैंथर्स (Belagavi Panthers) के लिए बतौर कप्तान मैदान में उतरे मनीष पांडे ने हुबली टाइगर्स (Hubli Tigers) के खिलाफ तूफानी शतक ठोका। हालांकि, मनीष पांडे का ये शतक उस समय बेकार साबित हुआ जब टीम को हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में हुबली टाइगर्स ने बेलगावी पैंथर्स को पांच विकेट से हरा दिया। 

इस मुकाबले में हुबली टाइगर्स के कप्तान विनय कुमार ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी। विनय कुमार का ये फैसला सही साबित हुआ जब दूसरी ही गेंद पर उनकी टीम को विकेट मिला। इसके बाद बेलगावी पैंथर्स की टीम के बीच साझेदारी पनपी, लेकिन दूसरा विकेट गिर गया। दूसरा विकेट गिरते ही नंबर चार पर कप्तान मनीष पांडे बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने तूफानी शतक ठोक दिया। 

दाएं हाथ के बल्लेबाज मनीष पांडे ने हुबली टाइगर्स के गेंदबाजों की जमकर खबर ली और 50 गेंदों में 7 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 102 रन बना डाले। इसी पारी के दम पर बेलगावी पैंथर्स ने 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 180 रन बनाए। वहीं, 181 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी हुबली टाइगर्स ने ये मैच 19.5 ओवर में 5 विकेट से जीत लिया, जिसमें मोहम्मद ताहा ने 75 रन की पारी खेली।

Loading...