Idea सेल्यूलर ने मांगी 100 फीसदी एफडीआई की इजाजत, वोडाफोन से होना है विलय

 दूरसंचार कंपनी आइडिया सेल्यूलर ने सरकार से अनुरोध किया है कि उसे अपने यहां विदेशी हिस्सेदारी 100 प्रतिशत तक ले जाने की इजाजत दी जाए. कंपनी ने शुक्रवार (26 जनवरी) शाम निवेशकों को दी गयी सूचना में कहा कि कंपनी में 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अनुमति के लिए डीआईपीपी (औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग) से आवेदन किया है. कंपनी में दिसंबर 2017 की स्थिति के अनुसार अभी विदेशी हिस्सेदारी करीब 27 प्रतिशत है. इस समय दूरसंचार कंपनियों में सीधी विदेशी हिस्सेदारी 100 प्रतिशत तक ले जायी जा सकती है, लेकिन 49 प्रतिशत से ऊपर की एफडीआई के लिए सरकार की मंजूरी लेना जरूरी है. यह शर्त सुरक्षा कारणों से रखी गयी है.

 

आईडिया सेल्यूलर अपना कारोबार ब्रिटेन की कंपनी वोडाफोन के भारतीय कारोबार के साथ मिलाने का फैसला कर चुकी है और कारोबारों के विलय की प्रक्रिया चल रही है. अभी वोडाफोन इंडिया का ग्राहकी के हिसाब से भारत के मोबाइल दूरसंचार बाजार में एयरटेल के बाद दूसरा स्थान है. विलय के बाद बनी कंपनी के ग्राहक 40 करोड़ से अधिक हो जाएंगे और वह बाजार की सबसे बड़ी कंपनी होगी. स्पेक्ट्रम के हिसाब से एयरटेल 1,976 मेगा हर्त्ज के साथ प्रथम और वोडाफोन-आइडिया 1,850 मेगा हर्त्ज के साथ दूसरे स्थान पर होगी. नयी कंपनी रिलायंस जियो (1,480 मे.ह.) तीसरे स्थान पर होगी. वोडाफोन आईडिया संयुक्त उपक्रम में वोडाफोन की हिस्सेदारी 47.5 प्रतिशत रहने की संभावना है. 

दिसम्बर 2017 में मोबाइल ग्राहकों की संख्या बढ़कर 98.16 करोड़ हुई
देश में मोबाइल ग्राहकों की संख्या पिछले दिसम्बर 2017 में बढ़कर 98.16 करोड़ रही. प्रमुख दूरसंचार कंपनियों के शीर्ष उद्योग संघ सेलुलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) ने मोबाइल ग्राहकों की संख्या की नवीनतम रिपोर्ट में बुधवार (17 जनवरी) को यह जानकारी दी. रिपोर्ट में बताया गया कि इन आंकड़ों में रिलायंस जियो इंफोकॉम और महानगर टेलीफोन निगम (एमटीएनएल) द्वारा भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) को सूचित किए गए नवम्बर माह के आंकड़े भी शामिल हैं.

भारती एयरटेल शीर्ष पर
समीक्षाधीन माह में ग्राहकों के मामले में भारती एयरटेल शीर्ष पर बनी रही और उसकी 29.55 फीसदी बाजार हिस्सेदारी रही. कंपनी ने दिसम्बर में 5 लाख नए ग्राहक जोड़े और उसके कुल ग्राहकों की संख्या 29.01 करोड़ हो गई. एयरटेल के बाद वोडाफोन के दिसम्बर में कुल 21.25 करोड़ ग्राहक थे, जबकि आइडिया तीसरे नंबर पर रही और इसके 19.65 करोड़ ग्राहक थे.

उत्तर प्रदेश (पूर्व) में 8.52 करोड़ मोबाइल ग्राहक
रिपोर्ट में कहा गया दूरसंचार सर्किल्स में उत्तर प्रदेश (पूर्व) शीर्ष पर बरकरार है, जहां 8.52 करोड़ मोबाइल ग्राहक हैं. उसके बाद महाराष्ट्र में 8.21 करोड़ मोबाइल ग्राहक है. सीओएआई के महानिदेशक राजन एस. मैथ्यू ने बताया, “देश के हर कोने में मोबाइल कनेक्टिविटी पहुंचाना लंबे समय से हमारी प्राथमिक दृष्टि रही है. विभिन्न शहरों में ग्राहकों की संख्या में अच्छी वृद्धि को देखना उत्साहजनक है. हम पूरी तरह से कनेक्टेड और सशक्त डिजिटल भारत की हमारी यात्रा को लेकर आशावादी है, और ऐसा प्रतीत होता है कि हम तेजी से इसके करीब पहुंच रहे हैं.”

Loading...
E-Paper