पंत के आउट होते ही तमतमा गए थे कोहली, शास्त्री के पास जाकर निकाली ये भड़ास

Loading...

भारतीय टीम के युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के पास बुधवार को हीरो बनने का मौका था. मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 (ICC World Cup 2019) के पहले सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड ने जब भारत के चार विकेट 24 रनों पर गिरा दिए थे तब हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) के साथ पंत ने 47 रन जोड़े लेकिन गलत शॉट खेल आउट हो गए. अंतिम-4 का यह बेहद रोमांचक मैच भारत ने 18 रनों से गंवा दिया.

दरअसल, पांड्या और पंत अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन पंत के लिए मिशेल सैंटरन ने जो जाल बिछाया था उसमें पंत फंस गए और गलत शॉट खेल पवेलियन लौट गए.

पंत के आउट होते ही कप्तान विराट कोहली बेचैन हो उठे और तमतमाते हुए बालकनी में कोच रवि शास्त्री के पास जा पहुंचे.

पंत से नाखुश!
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोहली ने शास्त्री के सामने पंत की लापरवाही को लेकर भड़ास निकली. वहीं, खबर यह भी है कि चोटिल शिखर धवन के बाहर होने के बाद कोहली ने श्रेयस अय्यर जैसे अनुभवी खिलाड़ी को वर्ल्ड टीम में शामिल करने का सुझाव दिया था, लेकिन शास्त्री ने युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत पर विश्वास जताया. जबकि पंत सेमीफाइनल में संभलकर नहीं खेल सके.

मैच के बाद किया बचाव
मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने हालांकि पंत का बचाव करते हुए कहा है कि वह समय के साथ सीख जाएंगे. उन्होंने कहा, “वह स्वाभाविक खिलाड़ी हैं और उन्होंने खराब स्थिति से बाहर आने के लिए अच्छा काम किया है और पांड्या के साथ साझेदारी की. मुझे लगता है कि तीन/चार विकेट गंवाने के बाद उन्होंने जिस तरह से खेला वो अच्छा था, वह अभी युवा हैं. मैं भी जब युवा था तब मैंने भी काफी गलतियां कीं, लेकिन सीखा, वह भी सीखेंगे. वह जब पलट कर देखेंगे तो कहेंगें कि हां वह उस स्थिति में कुछ अलग कर सकते थे.”

कोहली ने शास्त्री से क्या कहा
कोहली से जब पूछा गया कि वह ड्रेसिंग रूम में शास्त्री के साथ क्या चर्चा कर रहे थे? तो इस पर भारतीय कप्तान ने कहा, “मैंने पूछ था कि इस स्थिति से आगे जाने की क्या रणनीति है और मैदान के अंदर क्या संदेश भेजना है ताकि हम देख सकें कि मैच कहां जा रहा है?”

Loading...