आतंकवाद के खात्मे पर एक साथ काम करने को तैयार हैं भारत और जापानः सुषमा

भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इन दिनों जापान के दौरे पर हैं, वह यहां नौंवी भारत-जापान कूटनीतिक वार्ता में हिस्सा लेने के लिए आई हैं.

अपने समकक्ष से मुलाकात के बाद विदेश मंत्री ने कहा कि जापान और भारत दोनों ही देश आतंकवाद के खात्मे के लिए संयुक्त रूप से काम करने को तैयार हैं.

नौंवी भारत-जापान कूटनीतिक वार्ता के दौरान सुषमा ने अपने जापानी समकक्ष टारो कोनो से द्वीपक्षीय स्तर पर मुलाकात की. सुषमा और कानो के बीच द्वीपक्षीय मुलाकात में दोनों देशों के बीच के कई अहम मुद्दों पर बातचीत हुई.

उन्होंने कहा कि भारत और जापान इस बात को लेकर सहमत हैं कि किसी भी तरह का आतंकवाद दुनिया के लिए काले धब्बे की तरह है. भारत-जापान की ओर से जारी संयुक्त बयान में सुषमा ने कहा कि हमारे बीच बातचीत बेहद उपयोगी रही. हमने आपसी हित के लिए कई तरह के मुद्दे पर बात की. साथ ही उन्होंने कहा कि जापान, भारत की कई फ्लैगशिप परियोजनाओं में सहयोग के लिए सहमत हुआ है, जिसमें स्मार्ट सिटी परियोजना भी शामिल है.
इससे पहले सुषमा के जापान दौरे को लेकर विदेश मंत्रालय द्वारा जारी आधिकारिक बयान में कहा गया कि दोनों देशों के प्रतिनिधि भारत और जापान के अहम मुद्दों पर बात करेंगे. इस दौरान क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर दोनों देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए चर्चा की जाएगी. स्वराज की जापान यात्रा को लेकर मंत्रालय की ओर से कहा गया कि जापान के प्रधानमंत्री की ओर से 2017 में भारत की यात्रा ने दोनों देशों के रिश्तों को नई मजबूती प्रदान की थी.

भारत और जापान के बीच खास सामरिक और वैश्विक गठजोड़ भी है जो साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जापान यात्रा के दौरान कायम हुआ. जापानी प्रधानमंत्री शिंजो अबे भी सितंबर 2017 में भारत की यात्रा पर आए थे. दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध कई क्षेत्रों में काफी मजबूत है. जापान भारत में पहली बुलेट ट्रेन परियोजना में सहयोग कर रहा है. साथ ही वह भारत में सबसे बड़े निवेशकों में शामिल है.

Loading...
E-Paper