अमेरिका में बजा बॉलीवुड का डंका, जैकी श्रॉफ की इस फिल्म ने जीता इंटरनेशनल अवार्ड

बॉलीवुड ने एक बार फिर से विदेशी धरती पर डंका बजाया है. अभिनेता जैकी श्रॉफ की शॉर्ट फिल्म ‘शून्यता’ को अमेरिका के लॉस एंजेलिस में बेस्ट ऑफ इंडिया शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल में पुरस्कार से नवाजा गया है. चिंतन सारदा निर्देशित 22 मिनट की इस फिल्म को हजारों एंट्रीज में से शीर्ष छह में चुना गया. लॉस एंजेलिस के एक थिएटर में इस फिल्म को एक सप्ताह तक टिकट इवेंट में दिखाया गया जिसके बाद निर्णायकों ने इसे बेस्ट फिल्म के रूप में चुना. यह पुरस्कार समारोह 3 मार्च को मैक सेनेट स्टूडियो में आयोजित किया गया. जिसमें इनाम की राशि में कैश 1,000 डॉलर शामिल थे.

यह सारदा और सुनील खेडेकर द्वारा निर्मित है. इस कामयाबी पर चिंतन शारदा से कहा, “हम इस पुरस्कार से बहुत खुश हैं कि फिल्म पिछले कुछ महीनों में प्रशंसा बटोरने में कामयाब रही. यह कहीं ना कहीं हमें दिखाता है कि दर्शकों से जुड़ने का हमारा प्रयास काफी हद तक विस्तारित हो गया है.” इस फिल्म की शूटिंग ज्यादातर रात में हुई है.

सारदा ने कहा, “इस फिल्म समारोह का हिस्सा बनना सम्मान की बात थी. जैकी सर और हमारे सभी प्रतिभाशाली कलाकारों ने इस फिल्म को बनाया और मैं उनका बहुत आभारी हूं.” बता दें कि जैकी श्रॉफ को बी-टाउन में जग्गू दादा के नाम से भा जाना जाता है. जैकी श्रॉफ एक वर्सेटाइल एक्टर की कैटेगिरी में आते हैं. जैकी श्रॉफ का जन्म 1 फरवरी 1957 को एक गुजराती परिवार में हुआ था. इनका वास्तविक नाम जयकिशन कटुभाई श्रॉफ है. इनके पिता का नाम कटुभाई और मां का नाम रीटा श्रॉफ है.

Loading...

जैकी का बचपन मुंबई के वालकेश्वर इलाके में तीन बत्ती की एक चाल में बीता. फिल्मों में आने से पहले इन्होने कुछ विज्ञापनों में एक मॉडल के रूप में भी काम किया था. जैकी को सबसे पहले देव आनंद की फिल्म स्वामी दादा में एक छोटी सी भूमिका मिली. 1983 में निर्माता निर्देशक सुभाष घई ने इनको अपनी एक फिल्म हीरो में लीड रोल निभाने का मौका दिया था. खुशकिस्मती से उनकी ये फिल्म काफी सफल हुई और वो रातों रात एक बड़े सितारे बन गए.

Loading...
E-Paper