सुखपाल सिंह खैरा का बड़ा बयान, कहा- डेरे के वोट बैंक पर है सीएम कैप्टन की नजर

नवगठित पंजाबी एकता पार्टी के मुखिया सुखपाल सिंह खैरा ने कहा है की मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी मामले में वोट बैंक की राजनीत कर रहें है। दो साल बीत गए, कैप्टन ने जस्टिस रणजीत सिंह आयोग की ओर से दोषी घोषित किये पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार करने का साहस नहीं जुटा पाई। इन पुलिस अधिकारियों ने अदालत से स्टे ले लिया।उसके बाद कैप्टन ने बेअदबी मामले की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिशन टीम (एसआईटी) का गठन कर दिया। कैप्टन को अगर बेअदबी मामले के लिए एसआईटी का ही गठन करना था तो फिर आयोग से जांच क्यों करवाई गई। अब लोकसभा चुनाव में डेरे के वोट बैंक पर कैप्टन की नजर हैं। कैप्टन अभी तक न तो सुखबीर बादल न ही बेअदबी के दोषी डेरा प्रेमियों पर कोई कार्रवाई कर पाए है। वह वोटों के लिए दोषियों को पनाह दे रहे हैं। कैप्टन ने बेअदबी जांच का मुद्दा लटका दिया है।

सुखपाल सिंह खैरा शुक्रवार को श्री हरमंदिर साहिब में माथा टेकने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। खैरा ने कहा की आम आदमी पार्टी ने जस्टिस जोरा सिंह से बेअदबी के मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करवाकर वोट बैंक की राजनीती की है। जोरा सिंह मान आप की टिकट से फतेहगढ़ साहिब से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे, बेअदबी के मुद्दे को राजीनतिक रंग देकर आम आदमी पार्टी अपने राजनितिक हित पूरे करने के जुगाड़ में है। इससे पूर्व सुखपाल सिंह खैरा ने साथियों के साथ श्री हरमंदिर साहिब में माथा टेककर गुरु का आशीर्वाद लिया।।
प्रदेश में आप का राजनीतिक वजूद खत्म
खैरा ने दावा किया की आम आदमी पार्टी का वजूद प्रदेश की राजनीती में लगभग खत्म हो गया है। आप का कैडर पंजाबी एकता पार्टी से जुड़ रहा है। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा की भगवंत मान ने बीते दिनों ब्रह्मपुरा से बैठक कर लोकसभा चुनाव के लिए गठजोड़ करने का संकेत दिया है।इस पर खैरा ने कहा की दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब में कांग्रेस के साथ समझौते के जुगाड़ में थे। अमरिंदर सिंह ने इसे स्वीकार करने से इंकार कर दिया। आम आदमी पार्टी इस समझौते के तहत संगरूर लोकसभा सीट मांग रही थी, कैप्टन ने एक भी सीट देने से इंकार कर दिया।

Loading...