QS वर्ल्ड यूनविर्सिटी रैंकिंग 2018: देश के मशहूर IIT, यूनिवर्सिटीज की रैंकिंग में गिरावट, ये रहे टॉप पर…

नई दिल्ली: वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में भारतीय संस्थान कई पायदान नीचे आ गए हैं. जिन संस्थानों की रैंकिंग गिरी है, उनमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी यानी IIT भी शामिल हैं. ये आंकड़े QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में सामने आए हैं. हालांकि प्रीमियर इंजीनियरिंग स्कूलों ने 48 विषयों में 80 रैंकिंग हासिल की हैं पर इन सभी की परफॉमेंस 25 मामलों में गिरी है. जबकि केवल पांच मामलों में ही इंप्रूवमेंट दर्ज की गई है. अगर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस यानी IISC, बंगलुरु की परफॉमेंस को देखें तो यहां 33 मामलों में रैंकिंग नीचे आई है जबकि केवल पांच में इंप्रूवमेंट देखी गई है.

IIT संस्थानों की रैंकिंग गिरी

IIT बॉम्बे की 21 विषयों में रैकिंग हुई थी जिसमें से पांच में खराब प्रदर्शन है. ये विषय फिजिक्स एंड एस्ट्रोनॉमी, स्टेटिक्स एंड ऑपरेशनल रिसर्च, मैथमेटिक्स, इन्वॉयरमेंटल साइंसेज, बायोलॉजिकल सांइसेज है. संस्थान की ऑर्ट्स एंड ह्यूमेनिटीज, लैंग्वेज में रैंकिंग गिरी है. IIT दिल्ली की बात करें तो इसकी केमिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग, बायोलॉजिकल सांइस में रैंकिंग गिरी है. केवल लिंग्युएस्टिक में संस्थान को पहली बार रैंकिंग में स्थान मिला है. यही हाल देश के अन्य IIT संस्थानों का भी है.

IIM की ये रही रैंकिंग

जहां तक IIM की बात है तो केवल तीन को ही विश्व यूनिवर्सिटी रैंकिंग में स्थान मिला है. ये हैं अहमदाबाद, कोलकाता और बेंगलुरु के आईआईएम. ये सभी भी केवल दो विषयों में स्थान हासिल कर सके हैं.

JNU-DU का हाल

जवाहरलाल यूनिवर्सिटी आठ विषयों में से दो में यानी सोशियोलॉजी और बायोलॉजिकल साइंस में पहले की अपेक्षा नीची रैंकिंग पर पहुंच गया है. दिल्ली यूनिवर्सिटी की 21 विषयों में से डेवलेपमेंट स्टडीज, जियोग्राफी, केमिस्ट्री, ऑर्ट्स और ह्यूमेनिटीज की रैंकिंग गिरी है.

भारतीय संस्थानों का हाल

भारतीय संस्थानों की टॉप 50 और टॉप 100 की लिस्ट में भी कुछ ही संस्थान अपनी जगह बना पाए हैं. केवल तीन भारतीय संस्थानों को टॉप 50 लिस्ट में जगह मिली है. जबकि पिछले साल इनकी संख्या 4 थी. वहीं टॉप 100 की लिस्ट में केवल 20 भारतीय संस्थानों को जगह मिली है. पिछले साल से तुलना करें तो IISC के 14 विषयों में रैंकिंग में से 11 विषयों में परफामेंस खराब है. संस्थान केवल सिविल एंड स्ट्रक्चल इंजीनियरिंग, मेकेनिकल, एरोनॉटिकल और मेनुफेक्चिरंग इंजीनियरिंग एंड केमिस्ट्री में अपनी रैंकिंग में सुधार ला पाया है.

कौन रहे टॉप पर

रैंकिंग में सबसे ज्यादा जगह हार्वर्ड यूनिवर्सिटी को मिली है. 14 विषयों में ये संस्थान पहले नंबर पर है. इसके अलावा यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफोड को भी अच्छी रैंकिंग मिली है.

Loading...
E-Paper