इसलिए महिलाओं को होती पुरुष से ज्यादा नींद की जरूरत

महिला और पुरुषों की शारीरिक बनावट और संरचना अलग-अलग तरह की होती है. दोनों के शरीर में बहुत अंतर होता है और  दोनों की आदतों में भी बहुत फर्क होता है. औरतों की भावात्मक सोच भी मर्दों के मुकाबले अलग होती है. घर परिवार की जिम्मेदारी को लेकर वे जरूरत से ज्यादा काम और मानसिक दबाव की बहुत जल्दी शिकार हो जाती है. इसी वजह से उन्हें आराम की बहुत ज्यादा जरूरत होती है. लेकिन अगर नींद को अनदेखा कर दिया तो वे जल्दी बीमारियों का शिकार हो जाती हैं. आज हम यही बताने जा रहे हैं कि महिलाओं को सोना ज्यादा जरुरी क्यों है.


ज्यादा मैंटल स्ट्रेस : ये आप जानते हैं महिलाएं मल्टीटास्किंग होती हैंं. घर हो या फिर ऑफिस वे मेंटल एनर्जी पुरुषों से खर्च करती है. पूरी नींद लेने से ऊर्जा को दोबारा बनाए रखती हैं. 

आरामदायक नींद न लेना : एक रिपोर्ट के अनुसार 63 प्रतिशत महिलाओं का कहना है  कि वे हर हफ्ते अनिद्रा का अनुभव करती हैं. महिलाओं के कम सोने का एक अन्य कारण यह है कि वे आरामदायक नींद नहीं लेती, जितनी उन्हें जरूरत होती है.
 
मोनोपॉज : पीरियड्स से जुड़ी ऐसी बहुत-सी परेशानियां हैं जो महिलाओं को झेलनी पड़ती है. मेनोपॉज के पहले, दौरान और बाद में बहुत ज्यादा शारीरिक थकान का सामना करना पड़ता है. इस सैम,य भी उन्हें पूरिन नींद लेनी चाहिए. 
 
प्रेग्नेंसी : गर्भावस्था में हॉर्मोनल बदलाव आने के कारण शारीरिक और मानसिक कई तरह की तकलीफ का सामना करना पड़ता है. इस दौरान आरामदायक नींद की बहुत ज्यादा जरूरत होती है क्योंकि रात को अच्छी नींद सोने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं.