षड्यंत्रकारी पत्नी: प्रेमी के साथ मिल पति को मरवाया,फिर आठ लाख लेकर निर्दोष को जेल भिजवाया

- in उत्तरप्रदेश, प्रदेश

एंकर — हरदोई जिले में सनसनी खेज मामला सामने आया है जिसमे अवैध संबंधों के चलते एक महिला ने अपने पति की प्रेमी के साथ मिल कर हत्या कर दी , दरअसल पति  प्रेमी युगल के बीच हड्डी बना हुआ था लिहाज़ा पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर हथौड़ी से कूच कर  पति की हत्या करवा डाली और गांव में सियासी लड़ाई लड़ रहे दो पक्षों में से एक से पक्ष से मिलाकर 08 लाख रूपये के लालच में 02 लोगो को जेल भिजवा दिया , पुलिस विवेचना में जब मामला कुछ और सामने आया तो पुलिस ने 03 लोगो जिनमे  मृतक की पत्नी उसके प्रेमी और गांव के  षड्यंत्र रचने वाला शामिल है इनको गिरफ्तार कर जेल  भेज दिया है|

वीओ —  मामला लोनार थाना क्षेत्र का है, जहां 6 फरवरी 2018 की रात में गर्रा नदी पुल के पास सड़क किनारे एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ था, जिसकी शिनाख्त 35 वर्षीय छुटक्के के रूप में हुई थी | 

शिनाख्त होने के बाद मृतक की पत्नी  मीरा सिंह के द्वारा थाना लोनार में 2 लोगों  विनोद लाला और राजू लाला के खिलाफ नामजद FIR दर्ज कराई गई थी| पुलिस ने  दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था और पुलिस अपनी तफ्तीश में जुट गई थी| 

विवेचना के दौरान पुलिस टीम व सर्विलांस टीम को जो तथ्य सामने आए वो बेहद चौंकाने वाले थे दरअसल एविडेंस से पता चला कि मृतक छुटके की पत्नी मीरा सिंह का अंसार पुत्र बरकत निवासी बावन  के साथ अवैध संबंध थे, जिसमें छुटक्के  बाधक बन रहा था,  जिसके बाद उसकी हत्या को  लेकर उसकी पत्नी मीरा सिंह ने प्लान बनाया और अंसार छुटके को दावत में ले जाने के बहाने बातचीत करके  गर्रा नदी के पास मिलने के लिए बुलाया था गर्रा नदी पर पहुंचने के बाद पहले तो छुटके को शराब पिलाई गई, फिर दोनों मोटरसाइकिल पर सवार होकर  जाने लगे, तभी पेशाब करने की बात कहकर अंसार  ने मोटरसाइकिल रोकी| 

जब मृतक मोटरसाइकिल से उतरकर पहले पेशाब करने लगा तो अंसार ने पीछे से आकर छुटक्के  के सिर पर कनपटी के पास लोहे की हथोड़ी से दो बार वार किया जिससे मृतक जमीन पर गिर गया और उस की मौके पर ही मौत हो गई| इसके बाद अंसार ने मौके से भाग कर मृतक की पत्नी को सारी घटना के विषय में जाकर बताया और अपने घर चला गया| पुलिस को घटना की भनक लगने के बाद  मृतक की  पत्नी मीरा और उसके प्रेमी को थाना लोनार पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर किया गया और  हत्या में प्रयुक्त लोहे की हथोड़ी बरामद की गई|

Loading...

उसने बताया उसने घटना में प्रयोग किए गए मोबाइल नंबर जला दिया था , मृतक की पत्नी मीरा से पूछताछ के दौरान अपने जुर्म का एकबाल करते हुए बताया कि मैं अपने पति से छुटकारा पाना चाहती थी मुझे अपनी पत्नी की हत्या की घटना की पूरी जानकारी थी| 

परंतु मैं अपने प्रेमी को बचाना चाहती थी और उसी समय मेरे गांव के राकेश पुत्र जयपाल मेरे घर पर आया और मुझे विनोद लाला और राजू  का नाम लिखने हेतु 8 लाख रूपये  देने की बात कहकर नामजद मुकदमा लिखवाने के लिए कहा| गलत साक्ष्य प्रस्तुत करने और षड्यंत्र में शामिल होने व  हत्या का मुकदमा लिखवाने  के बाद राकेश को भी गिरफ्तार किया गया जिसमें गलत नाम लिखवाने की बात स्वीकार किया| 

बाईट — विपिन मिश्रा (एसपी)

Loading...