जब धोनी ने कहा, ‘ बाबू समझो इशारे…’ तो सहम गए पांडे जी, वीडियो हुआ वायरल

नई दिल्ली. रोमांच का दूसरा नाम क्रिकेट क्यों है इसका एक बेहतरीन नमूना सेंचुरियन में खेले दूसरे टी20 में दिखा. इस मैच में भारतीय पारी के आखिरी ओवर के दौरान क्रीज पर जो कुछ हुआ वो कैमरे में भी कैद हो गया और अब वायरल हो चुका है.

आखिरी ओवर में धोनी स्ट्राइक पर थे और रन चुराने की ताक में भी थे. लेकिन दूसरे छोर पर खड़े पांडे जी यानी मनीष पांडे की नजर धोनी की ओर ना होकर स्कोर बोर्ड पर टिकी थी. इसे देखकर हमेशा कूल दिखने वाले धोनी को गुस्सा आ गया और उन्होंने पांडे जी को खरी खोटी सुना दी. धोनी का ये वीडियो सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहा है.

इस वीडियो में तिलमिलाए धोनी मनीष पांडे से कह रहे हैं- ओए, वहां क्या देख रहा है… इधर देख ले… आवाज नहीं आएगी… इशारा देखना…

भारतीय क्रिकेट का इतिहास गवाह है कि धोनी जो भी करते हैं वो टीम के हित के लिए करते हैं. इस आखिरी ओवर में भी मनीष पांडे के पीछे धोनी के गुस्से की वजह जायज थी. इसका नतीजा क्या हुआ उसका अंदाजा अब जरा इस आंकड़े से समझिए. भारत ने आखिरी ओवर में 18 रन बनाए जिसमें अकेले 17 रन धोनी के रहे.

आखिरी ओवर के इस विस्फोट के दम पर धोनी और मनीष पांडे के बीच इस मैच में 98 रन की नाबाद साझेदारी देखने को मिली, जो इंटरनेशन T20 में 5वें विकेट के लिए भारत की दूसरी बड़ी साझेदारी हैं. इस बड़ी साझेदारी के दम पर भारत ने साउथ अफ्रीका के सामने 189 रन का लक्ष्य रखा. धोनी ने इस मैच में नाबाद 52 रनों की पारी खेली, जिसमें 3 छक्के और 4 चौके शामिल थे वहीं मनीष पांडे ने 66 गेंदों में शानदार नाबाद 79 रनों की पारी खेली. हालांकि, इसके बावजूद भारत ये मैच हार गया.

बता दें कि धोनी की बल्लेबाजी देखकर दर्शकों में जबरदस्त उत्साह था. मैच के आखिरी पलों में जब धोनी ने अपने पुराने तेवर अपनाए तो मैदान पर जोर-जोर से धोनी-धोनी की आवाज गूंजने लगी. दरअसल ये भी एक वजह थी कि धोनी को अपने साथी खिलाड़ी से कहना पड़ा कि वो उनके इशारों को समझें क्योंकि शोर की वजह से आवाज वहां तक नहीं पहुंचेगी.

क्रिकेट फैंस विकेट के पीछे से अपने साथी खिलाड़ियों को कुछ कहने या बोलते सुनने के आदि रहे है. लेकिन मैदान पर बल्लेबाजी के दौरान साथी बल्लेबाज से कुछ कहने वाला ये पहला वीडियो है. ये नए बल्लेबाजों के लिए एक सबक भी हैकि वो अपना फोकस मैच पर रखें ना कि इधर-उधर देखते रहें.

Loading...
E-Paper