प्रणाम नहीं करने पर बोला सरपंच,नहीं बनाएंगे तेरा चरित्र प्रमाण पत्र

- in Main Slider, बिहार

सहदेई बुजुर्ग प्रखंड की पोहियार बुजुर्ग पंचायत के रामपुर बघेल गांव में सरपंच को प्रणाम न करना एक युवक को महंगा पड़ गया। प्रणाम नहीं किए जाने से आगबबूला हुए सरपंच ने युवक का आचरण प्रमाणपत्र बनाने से इनकार कर दिया। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने पूरे मामले की जांच करने का आश्वासन दिया है। वहीं सरपंच ने युवक पर जाति सूचक गाली देने का आरोप लगाया है। सहदेई बुजुर्ग प्रखंड की पोहियार बुजुर्ग पंचायत के रामपुर बघेल गांव में सरपंच को प्रणाम न करना एक युवक को महंगा पड़ गया। प्रणाम नहीं किए जाने से आगबबूला हुए सरपंच ने युवक का आचरण प्रमाणपत्र बनाने से इनकार कर दिया। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो वायरल होने के बाद डीएम ने पूरे मामले की जांच करने का आश्वासन दिया है। वहीं सरपंच ने युवक पर जाति सूचक गाली देने का आरोप लगाया है।   मालूम हो कि रामपुर बघेल गांव के यश प्रताप सिंह आर्मी की नौकरी के लिए आचरण प्रमाणपत्र की जरूरत थी। वह आचरण प्रमाणपत्र बनवाने के लिए पंचायत के सरपंच सुरेंद्र पासवान के पास पहुंचा। वहां पहले से कई युवक आचरण प्रमाणपत्र बनाने के लिए बैठे हुए थे।  यश ने जैसे ही सरपंच से अपना आचरण प्रमाणपत्र बनाने के लिए बोला वह आगबबूला हो उठा। सरपंच की नाराजगी की वजह सिर्फ इतनी थी कि यश ने उसे प्रणाम नहीं किया था। आगबबूला सरपंच न सिर्फ प्रमाणपत्र बनाने से इन्कार करने लगे बल्कि युवक को यह कहकर अपने दरवाजे से जाने को कह दिया कि वह आर्मी की नौकरी में जाने के लायक ही नहीं हैं।   राघोपुर में नदी के किनारे के गांवों में चल रहीं दारू की भट्ठियां यह भी पढ़ें वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि वहां मौजूद एक व्यक्ति ने सरपंच को शांत कराने का प्रयास भी किया लेकिन सरपंच तो प्रणाम नहीं किए जाने से पूरी तरह आगबबूला थे।   इधर इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही सरपंच ने पलटी मार ली। अब सरपंच युवक पर पहले जाति सूचक गाली देने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं डीएम राजीव रौशन ने पूरे की मामले की जांच करने की बात कही है।

मालूम हो कि रामपुर बघेल गांव के यश प्रताप सिंह आर्मी की नौकरी के लिए आचरण प्रमाणपत्र की जरूरत थी। वह आचरण प्रमाणपत्र बनवाने के लिए पंचायत के सरपंच सुरेंद्र पासवान के पास पहुंचा। वहां पहले से कई युवक आचरण प्रमाणपत्र बनाने के लिए बैठे हुए थे।

यश ने जैसे ही सरपंच से अपना आचरण प्रमाणपत्र बनाने के लिए बोला वह आगबबूला हो उठा। सरपंच की नाराजगी की वजह सिर्फ इतनी थी कि यश ने उसे प्रणाम नहीं किया था। आगबबूला सरपंच न सिर्फ प्रमाणपत्र बनाने से इन्कार करने लगे बल्कि युवक को यह कहकर अपने दरवाजे से जाने को कह दिया कि वह आर्मी की नौकरी में जाने के लायक ही नहीं हैं।

Loading...

वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि वहां मौजूद एक व्यक्ति ने सरपंच को शांत कराने का प्रयास भी किया लेकिन सरपंच तो प्रणाम नहीं किए जाने से पूरी तरह आगबबूला थे। 

इधर इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही सरपंच ने पलटी मार ली। अब सरपंच युवक पर पहले जाति सूचक गाली देने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं डीएम राजीव रौशन ने पूरे की मामले की जांच करने की बात कही है।

Loading...