अलीगढ़ एनकाउंटर पर पुलिस के पक्ष में उतरे पहलवान योगेश्वर दत्त

पुलिस मुठभेड़ के दौरान मीडिया की मौजूदगी पर सवाल उठा रहे राजनीतिक दलों को अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त ने तगड़ी नसीहत दी है। अलीगढ़ के हरदुआगंज में 20 सितंबर को मुठभेड़ में मारे गए दो बदमाशों पर हो रही राजनीति के बीच अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी व एशियन गेम्स में गोल्ड पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त ने ट्वीट किया है कि अपराध पर राजनीति करने वाले अपराधी व पुलिस में फर्क समझें।पुलिस मुठभेड़ के दौरान मीडिया की मौजूदगी पर सवाल उठा रहे राजनीतिक दलों को अंतरराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत्त ने तगड़ी नसीहत दी है। अलीगढ़ के हरदुआगंज में 20 सितंबर को मुठभेड़ में मारे गए दो बदमाशों पर हो रही राजनीति के बीच अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी व एशियन गेम्स में गोल्ड पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त ने ट्वीट किया है कि अपराध पर राजनीति करने वाले अपराधी व पुलिस में फर्क समझें।  पुलिस कल तक मुठभेड़ में मारे गए बदमाशों का सही ठिकाना तलाशने में जुटी रही। परिवार की महिलाओं को लेकर पुलिस छर्रा भी गई, जहां वे रही थीं। इसके बाद इनके तार पश्चिम बंगाल से जुड़े तारों की भी तस्दीक कर रही है।  पुलिस ने मुठभेड़ में छर्रा के शिवपुरी हाल निवासी नौशाद व मुस्तकीम को मार गिराया था। दावा किया है कि मारे गए बदमाश तीन साधु समेत छह लोगों की हत्या में शामिल थे। इनके पांच साथी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके थे, तब ये भागने में सफल रहे थे। पूर्व विधायक जमीर उल्लाह व कांग्रेस के पूर्व सांसद चौ. बिजेंद्र सिंह ने मुठभेड़ को फर्जी करार देते हुए जांच की मांग की थी। कई और संगठनों ने भी पुलिस की कार्रवाई को कठघरे में खड़ा किया।  –– ADVERTISEMENT ––     एएमयू छात्र का शोध बनेगा गूगल के कान, शोर शराबे में भी बोलकर सही कर सकेंगे टाइप यह भी पढ़ें सुरक्षित समाज के लिए तय करें कि अपराधियों पर राजनीति करनी है या पुलिस को सपोर्ट-  अलीगढ़ में मारे गए बदमाश जघन्य अपराधी थे! अपराध पर राजनीति करने वाले. अपराधी और पुलिस में फर्क को समझे! #जयहिन्द pic.twitter.com/HxaiRCmXQu   हाथरस में किशोरी को दो महीने तक बंधकर बनाकर दुष्कर्म, घर से जबरन उठाकर ले गया था जबरन यह भी पढ़ें View image on Twitter View image on Twitter  Yogeshwar Dutt ✔ @DuttYogi  सुरक्षित समाज के लिए तय करें कि अपराधियों पर राजनीति करनी है या पुलिस को सपोर्ट-  अलीगढ़ में मारे गए बदमाश जघन्य अपराधी थे!  अपराध पर राजनीति करने वाले. अपराधी और पुलिस में फर्क को समझे!  #जयहिन्द  10:06 PM - Sep 22, 2018 2,649 778 people are talking about this Twitter Ads info and privacy ऐसे में पहलवान योगेश्वर दत्त का यह ट्वीट पुलिस को राहत देने वाला है। रविवार को किए ट्वीट में योगेश्वर ने लिखा है कि सुरक्षित समाज के लिए तय करें कि अपराधियों पर राजनीति करनी है या पुलिस का सपोर्ट। अलीगढ़ में मारे गए बदमाश जघन्य अपराधी थे। अपराध पर राजनीति करने वाले, अपराधी और पुलिस में फर्क को समझें। जय हिंद।   छीना-झपटी के बीच कांग्रेस के पूर्व सांसद व पूर्व विधायक का क्यों फूंका पुतला ?, जानिए क्या है मामला यह भी पढ़ें अपराध पर राजनीति करने वाले तय करें की पुलिस कठोर कदम नहीं उठाएगी तो समाज की सुरक्षा कौन करेगा! #जय हिन्द pic.twitter.com/iTGEM3Bi5w  View image on Twitter View image on Twitter  Anuj Choudhary @wrestleranuj  अपराध पर राजनीति करने वाले तय करें की पुलिस कठोर कदम नहीं उठाएगी तो समाज की सुरक्षा कौन करेगा! #जय हिन्द  10:21 PM - Sep 22, 2018 1,387 317 people are talking about this Twitter Ads info and privacy  थाने में पेंटिंग्स के जरिए दिया नारी सशक्तिकरण, स्वावलंबी बनने का संदेश यह भी पढ़ें उत्तर प्रदेश पुलिस में डिप्टी एसपी अनुज कुमार चौधरी ने भी इस एनकाउंटर पर पुलिस की पीठ थपथपाई है। अलीगढ़ में तैनात रह चुके अनुज चौधरी भी पूर्व अंतरराष्ट्रीय पहलवान है। उनको अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन करने के कारण अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।     अलीगढ़ में देर रात रोडवेज बस पर पथराव, यात्रियों ने एक युवक पकड़कर पुलिस के हवाले किया यह भी पढ़ें सीओ अतरौली प्रशांत सिंह ने बताया कि मारे गए बदमाशों का मूल पता जुटाने में पुलिस लगी है। रविवार को बदमाशों के परिवार की महिलाओं को छर्रा भी ले गई थी, जहां वे किराये पर रहे थे। इसकी पुष्टि हो चुकी है। बदमाशों के पश्चिम बंगाल के मूल निवासी होने की जानकारी मिली है, इसकी पुष्टि कराई जा रही है। जल्द ही हकीकत सामने आ जाएगी।

पुलिस कल तक मुठभेड़ में मारे गए बदमाशों का सही ठिकाना तलाशने में जुटी रही। परिवार की महिलाओं को लेकर पुलिस छर्रा भी गई, जहां वे रही थीं। इसके बाद इनके तार पश्चिम बंगाल से जुड़े तारों की भी तस्दीक कर रही है।

पुलिस ने मुठभेड़ में छर्रा के शिवपुरी हाल निवासी नौशाद व मुस्तकीम को मार गिराया था। दावा किया है कि मारे गए बदमाश तीन साधु समेत छह लोगों की हत्या में शामिल थे। इनके पांच साथी पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके थे, तब ये भागने में सफल रहे थे। पूर्व विधायक जमीर उल्लाह व कांग्रेस के पूर्व सांसद चौ. बिजेंद्र सिंह ने मुठभेड़ को फर्जी करार देते हुए जांच की मांग की थी। कई और संगठनों ने भी पुलिस की कार्रवाई को कठघरे में खड़ा किया।

ऐसे में पहलवान योगेश्वर दत्त का यह ट्वीट पुलिस को राहत देने वाला है। रविवार को किए ट्वीट में योगेश्वर ने लिखा है कि सुरक्षित समाज के लिए तय करें कि अपराधियों पर राजनीति करनी है या पुलिस का सपोर्ट। अलीगढ़ में मारे गए बदमाश जघन्य अपराधी थे। अपराध पर राजनीति करने वाले, अपराधी और पुलिस में फर्क को समझें। जय हिंद।

Loading...

उत्तर प्रदेश पुलिस में डिप्टी एसपी अनुज कुमार चौधरी ने भी इस एनकाउंटर पर पुलिस की पीठ थपथपाई है। अलीगढ़ में तैनात रह चुके अनुज चौधरी भी पूर्व अंतरराष्ट्रीय पहलवान है। उनको अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शानदार प्रदर्शन करने के कारण अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।

सीओ अतरौली प्रशांत सिंह ने बताया कि मारे गए बदमाशों का मूल पता जुटाने में पुलिस लगी है। रविवार को बदमाशों के परिवार की महिलाओं को छर्रा भी ले गई थी, जहां वे किराये पर रहे थे। इसकी पुष्टि हो चुकी है। बदमाशों के पश्चिम बंगाल के मूल निवासी होने की जानकारी मिली है, इसकी पुष्टि कराई जा रही है। जल्द ही हकीकत सामने आ जाएगी। 

Loading...