दंपती की गोली मारकर हत्या, शादी के 22 साल बाद होने वाली थी संतान

- in पंजाब, प्रदेश

कस्बा जीरा के समीप गांव पंडोरी खत्रियों में एक दंपती की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस के अनुसार  महज 15 मिनट में दंपती की हत्या कर शूटर फरार हो गए। हत्यारे कोठी में लगे सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर भी साथ ले गए। राजप्रीत सिंह (47) पुत्र मंगल सिंह और उसकी पत्नी प्रभदीप कौर उर्फ दीप (45) की शादी के 22 साल बाद संतान होने वाली थी। आठ महीने की गर्भवती प्रभदीप कौर को डॉक्टर ने डिलीवरी की डेट नौ अक्टूबर दी थी। प्रथम दृष्टया जांच में हत्याकांड को सुबह 8.15 से 8.30 बजे के बीच अंजाम दिया जाना प्रतीत हो रहा है।कस्बा जीरा के समीप गांव पंडोरी खत्रियों में एक दंपती की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस के अनुसार  महज 15 मिनट में दंपती की हत्या कर शूटर फरार हो गए। हत्यारे कोठी में लगे सीसीटीवी कैमरों की डीवीआर भी साथ ले गए। राजप्रीत सिंह (47) पुत्र मंगल सिंह और उसकी पत्नी प्रभदीप कौर उर्फ दीप (45) की शादी के 22 साल बाद संतान होने वाली थी। आठ महीने की गर्भवती प्रभदीप कौर को डॉक्टर ने डिलीवरी की डेट नौ अक्टूबर दी थी। प्रथम दृष्टया जांच में हत्याकांड को सुबह 8.15 से 8.30 बजे के बीच अंजाम दिया जाना प्रतीत हो रहा है।  मृतक दंपती के  रिश्तेदार के अनुसार  गर्भवती होने की वजह से प्रभदीप कौर को मोगा के एक डॉक्टर ने बेड रेस्ट की सलाह दी थी। घर में काम करने के लिए घरेलू सहायिका रखी थी। घरेलू सहायिका के परिवार को राजप्रीत सिंह ने गांव के पास स्थित अपने खेत में मोटर पर रहने के लिए कमरा दे रखा था।  सहायिका रजनी सुबह करीब 6:30 बजे आई थी और दंपती को चाय बनाकर दी। बाद में प्रभदीप को दूध गर्म कर दिया। इसके बाद वह अपने घर चली गई। सुबह करीब 8.15 बजे राजप्रीत सिंह ने रजनी को फोन कर घर बुलाया था कि उन्हें मोगा जाना है। वह खाना बनाने के लिए जल्द आ जाए। 8:30 बजे रजनी जब घर पहुंची तो राजप्रीत और प्रभदीप के रक्तरंजित शव फर्श पर पड़े थे। यानि शूटर 15 मिनट में वारदात को अंजाम दे फरार हो गए।   पांच साल बाद खुला राज- महिला ने पति को मार शव टॉयलेट के गड्ढे में छिपाया यह भी पढ़ें पेशेवर शूटर हैं हत्यारे    दंपती को गोलियां दाग कोठी से सीसीटीवी की डीवीआर ले गए शूटर यह भी पढ़ें जिस तरीके से वारदात को अंजाम दिया उससे पुलिस को संदेह है कि हत्यारे पेशेवर शार्प शूटर हैं।  घटना की सूचना मिलते ही आइजी फिरोजपुर रेंज एमएस छीना, डीएसपी नरेंद्र सिंह, डीएसपी फिरोजपुर जसपाल सिंह, एसएचओ थाना सदर जीरा अवतार सिंह, एसएचओ थाना सिटी जीरा देवेंद्र कुमार मौके पर पहुंचे।

मृतक दंपती के  रिश्तेदार के अनुसार  गर्भवती होने की वजह से प्रभदीप कौर को मोगा के एक डॉक्टर ने बेड रेस्ट की सलाह दी थी। घर में काम करने के लिए घरेलू सहायिका रखी थी। घरेलू सहायिका के परिवार को राजप्रीत सिंह ने गांव के पास स्थित अपने खेत में मोटर पर रहने के लिए कमरा दे रखा था।

सहायिका रजनी सुबह करीब 6:30 बजे आई थी और दंपती को चाय बनाकर दी। बाद में प्रभदीप को दूध गर्म कर दिया। इसके बाद वह अपने घर चली गई। सुबह करीब 8.15 बजे राजप्रीत सिंह ने रजनी को फोन कर घर बुलाया था कि उन्हें मोगा जाना है। वह खाना बनाने के लिए जल्द आ जाए। 8:30 बजे रजनी जब घर पहुंची तो राजप्रीत और प्रभदीप के रक्तरंजित शव फर्श पर पड़े थे। यानि शूटर 15 मिनट में वारदात को अंजाम दे फरार हो गए।

Loading...

जिस तरीके से वारदात को अंजाम दिया उससे पुलिस को संदेह है कि हत्यारे पेशेवर शार्प शूटर हैं।  घटना की सूचना मिलते ही आइजी फिरोजपुर रेंज एमएस छीना, डीएसपी नरेंद्र सिंह, डीएसपी फिरोजपुर जसपाल सिंह, एसएचओ थाना सदर जीरा अवतार सिंह, एसएचओ थाना सिटी जीरा देवेंद्र कुमार मौके पर पहुंचे।

Loading...