BJP-JDU के बीच सीट बंटवारे पर केसी त्यागी का बयान-अभी अंतिम मुहर नहीं लगी

- in प्रदेश, बिहार

भाजपा और जदयू के बीच सीट बंटवारे पर फैसले को लेकर चल रहे सियासी कयासों के बीच जदयू के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने गुरुवार को बताया कि दोनों दलों में सीटों का बंटवारा निश्चित हो जाने के जो कयास लगाए जा रहे हैं, वे आधे-अधूरे हैं। अभी बात पूरी तरह जमी नहीं है। तालमेल के विभिन्न पहलुओं पर वार्ता जारी है। अभी अंतिम मुहर नहीं लगी है। एक सप्ताह में फैसला हो जाने की संभावना है। भाजपा और जदयू के बीच सीट बंटवारे पर फैसले को लेकर चल रहे सियासी कयासों के बीच जदयू के प्रधान राष्ट्रीय महासचिव केसी त्यागी ने गुरुवार को बताया कि दोनों दलों में सीटों का बंटवारा निश्चित हो जाने के जो कयास लगाए जा रहे हैं, वे आधे-अधूरे हैं। अभी बात पूरी तरह जमी नहीं है। तालमेल के विभिन्न पहलुओं पर वार्ता जारी है। अभी अंतिम मुहर नहीं लगी है। एक सप्ताह में फैसला हो जाने की संभावना है।   जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की बुधवार को दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से हुई मुलाकात के बाद गुरुवार सुबह जदयू की ओर से जाने माने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने अमित शाह से भेंट की। जिसके बाद बिहार के राजनीतिक गलियारे में कयासों का सिलसिला जारी है। बता दें कि प्रशांत किशोर ने पिछले दिनों ही जदयू प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है।   केसी त्यागी ने कहा कि प्रशांत किशोर ने अमित शाह से मुलाकात की है। सीटों की संख्या को लेकर अभी अंतिम फैसला नहीं हुआ है। दो-तीन दिनों के अंदर स्थिति स्पष्ट होकर सामने आएगी। उन्होंने बताया कि यह तय है कि हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी।   बिहार: अपराधियों ने भाजपा नेता के शोरूम पर की अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत यह भी पढ़ें इस बीच, पार्टी सूत्रों के मुताबिक जदयू की ओर से आगे की बातचीत अब प्रशांत किशोर करेंगे। पार्टी की ओर से उन्हें यह जिम्मेदारी दी गई है। सीटों के तालमेल को लेकर दोनों दलों के शीर्ष नेताओं के बीच जुलाई से बातचीत जारी है।  वहीं, 12 जुलाई को पटना में अमित शाह ने नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। उसके बाद बुधवार को दिल्ली में नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर अमित शाह से वन-टू-वन बात की है। बता दें कि झारखंड और यूपी की सीटों पर भी अभी अनिर्णय की ही स्थिति बनी हुई है।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की बुधवार को दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से हुई मुलाकात के बाद गुरुवार सुबह जदयू की ओर से जाने माने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने अमित शाह से भेंट की। जिसके बाद बिहार के राजनीतिक गलियारे में कयासों का सिलसिला जारी है। बता दें कि प्रशांत किशोर ने पिछले दिनों ही जदयू प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के दौरान पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। 

केसी त्यागी ने कहा कि प्रशांत किशोर ने अमित शाह से मुलाकात की है। सीटों की संख्या को लेकर अभी अंतिम फैसला नहीं हुआ है। दो-तीन दिनों के अंदर स्थिति स्पष्ट होकर सामने आएगी। उन्होंने बताया कि यह तय है कि हमें सम्मानजनक सीटें मिलेंगी।

Loading...

इस बीच, पार्टी सूत्रों के मुताबिक जदयू की ओर से आगे की बातचीत अब प्रशांत किशोर करेंगे। पार्टी की ओर से उन्हें यह जिम्मेदारी दी गई है। सीटों के तालमेल को लेकर दोनों दलों के शीर्ष नेताओं के बीच जुलाई से बातचीत जारी है।

वहीं, 12 जुलाई को पटना में अमित शाह ने नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। उसके बाद बुधवार को दिल्ली में नीतीश कुमार ने इस मुद्दे पर अमित शाह से वन-टू-वन बात की है। बता दें कि झारखंड और यूपी की सीटों पर भी अभी अनिर्णय की ही स्थिति बनी हुई है। 

Loading...