सीतापुर: मरीज को अस्पताल ले गए परिजनों का आरोप, अस्पताल स्टाफ के गलत इंजेक्शन लगाने से मरीज की मौत

सीतापुर में मरीज को पास के अस्पताल ले गए परिजनों का आरोप है कि अस्पताल स्टाफ के गलत इंजेक्शन लगाने से मरीज की मौत हुई है.इसी बात को लेकर परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा भी काटा है.अस्पताल स्टाफ का आरोप है कि परिजनों ने उनके साथ मारपीट भी की है.इसी बात को लेकर अस्पताल स्टाफ ने अस्पताल के गेट पर ताला जड़ दिया है.तंबौर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर सीने में तकलीफ को लेकर 60 वर्षीय अनीस  के परिजन उसे तम्बौर सीएचसी लेकर गए।

आरोप है कि सीएचसी पर डॉक्टर मनोज कुमार ने मौके पर मरीज को देखा। डॉक्टर ने मरीज को इंजेक्शन लगाने के लिए स्टाफ नर्स अनुराधा को दिया गया। इंजेक्शन लगाने के बाद हालत में सुधार ना होने से परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसी बीच अनीस की मौत भी हो गयी.अस्पताल प्रभारी ने भी मृतक के घरवालों पर स्टाफ के साथ मारपीट का आरोप लगाया है.

Loading...

इस बात से नाराज होकर सीएचसी कर्मियों ने  डिलेवरी रूम, इमरजेंसी व ओपीडी पर ताला लटका दिया. स्वास्थ्य कर्मियो का कहना है कि जब तक दोषियों पर कोई कार्यवाही नही की जायेगी। तब तक हम लोग काम नही करेंगे। वही परिजनों का आरोप है कि अस्पताल में डॉक्टर ने  इंजेक्शन किसी सफाई कर्मी से लगवाया था. अस्पताल के प्रभारी का कहना है कि बात किं जा रही है जल्द ही अस्पताल का काम शुरु हो जायेगा .साथ ही अभाद्रता की शिकायत पुलिस में करने की बात कही गयी है.

Loading...