वनडे टीम से बाहर हुए अश्विन ने कोहली के बारे में दिया ऐसा बयान, जानकर रह जाएंगे हैरान

भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन इन दिनों भारत की वनडे टीम से बाहर चल रहे हैं और यही वजह है कि वो इस समय द. अफ्रीका में नहीं बल्कि भारत में तमिलनाडु की तरफ से विजय हज़ारे ट्रॉफी खेल रहे हैं। भारत के इस दिग्गज स्पिन गेंदबाज़ों को लगता है कि दक्षिण अफ्रीका के पहले दो वनडे में युजवेंद्र चहल और कुलदीप की जोड़ी की सफलता की कुंजी वहां के हालातों में खुद को अच्छे से ढालना है। कलाइयों के स्पिनर चहल और कुलदीप के आगे दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों की डरबन और सेंचुरियन में एक नहीं चली और भारत ने छह मैचों की वनडे सीरीज में 2-0 की बढ़त हासिल की।

अश्विन ने कहा, ‘यह कलाई से स्पिन की बात नहीं है बल्कि वहां के हालातों से सामंजस्य बैठाने का मामला है। जब टी-20 शुरू हो जाएंगे तो स्पिनरों के लिए मुश्किल हो जाएगी। अंगुली के स्पिनरों का वर्चस्व दस सालों के लिए होता है। जहां तक कलाई के स्पिनरों की बात है तो उन्होंने अब अच्छा प्रदर्शन करना शुरू किया है लेकिन यह सब काबिलियत पर भी निर्भर करता है।’ अश्विन भारत की टेस्ट टीम के सदस्य हैं, लेकिन वह पिछले साल इंग्लैंड में हुई चैंपियंस ट्रॉफी के बाद से सीमित प्रारूपों की भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं सिर्फ अपना काम कर सकता हूं। मैं इस बारे में नहीं सोचता। यदि मैं अच्छा कर रहा हूं तो मैं खेलूंगा। यह मेरा आत्मविश्वास है। मैं कुछ समय के लिए अभ्यास करता हूं और ये मेरा प्लान आइपीएल व अन्य टूर्नामेंटों के लिए रहता है। मैं मैच के दौरान कुछ नया करने की कोशिश कर रहा हूं जो दबाव में अच्छा काम कर सकता है। सच कहूं तो कई लोगों ने मुझसे कहा कि मैं ज्यादातर नई चीजों पर काम करता हूं लेकिन मैं ज्यादा कोशिश नहीं करता। मैच में जिस चीज की मांग रहती है, वहीं करता हूं।’

कोहली के शरीर में कोई नकारात्मक चीज नहीं

अश्विन ने कहा कि कप्तान विराट कोहली हमेशा जीत के लिए सोचते हैं और उनकी इस मानसिकता से अन्य खिलाड़ियों पर प्रभाव पड़ता है। कोहली के शरीर में कोई नकारात्मक चीज नहीं है। वह हमेशा जीत के बारे में बात करते हैं। यह अच्छा है क्योंकि इससे खिलाड़ी जान जाता है कि उससे क्या मांग की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कोहली विदेशी दौरों में पहली बार पूरी तरह से कप्तानी संभाल रहे हैं। वह दिग्गज कप्तानों की श्रेणी में आ गए हैं। अच्छे प्रदर्शन के लिए उनको श्रेय दिया जाता है।’ भारत और दक्षिण के बीच जारी वनडे सीरीज काफी रोमांचक हो गई है और आगामी दो मैच आखिरी गेंद तक जाने की उम्मीद है। हमने अभी तक अच्छी क्रिकेट खेली है। यदि हम टॉस जीतते हैं तो इससे बड़ा अंतर पैदा हो जाता है।

 
Loading...
E-Paper