मिलिट्री और राजनयिक स्तर पर 9 राउंड की बातचीत के बाद सुलझ चुका है मामला: राजनाथ सिंह

भारत और चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की 10वीं बैठक ख़त्म हो चुकी है. इस दौरान दोनों ही मुल्कों ने पूर्वी लद्दाख में फ्रंटलाइन पर तैनात सेनाओं को वापस बुलाने की प्रक्रिया का स्वागत किया और आगे के लिए भी सकारात्मक संकेत दिए. इस पर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की प्रतिक्रिया सामने आई है. 

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि ”मिलिट्री और राजनयिक स्तर पर 9 राउंड की बातचीत के बाद ही मामला सुलझ चुका है. किन्तु कांग्रेस ने हमारी छवि खराब करने का प्रयास किया. मैं आप सभी को सुनिश्चित कर देना चाहता हूं कि जब तक मैं जिंदा हूं हमारे देश की एक इंच जमीन भी कोई नहीं ले सकता है.” बता दें कि, पिछले दिनों दोनों ही देश यानी भारत और चीन, पूर्वी लद्दाख के विवादित क्षेत्र से अपनी-अपनी सेनाएं हटाने के लिए राजी हो चुके हैं. 

इसके साथ ही दोनों मुल्कों के बीच ये भी समझौता हुआ है कि भारत फिंगर 3 से आगे नहीं बढ़ेगा और चीन फिंगर 8 से आगे नहीं बढ़ेगा और फिंगर 3 से फिंगर 8 तक के बीच का स्थान अब ‘नो मार्च एरिया’ रहेगा. यानी दोनों ही देश की फौजें इस क्षेत्र में मार्च नहीं कर सकेगीं. भारत और चीन के बीच नए समझौते के मुताबिक, भारत को अपनी स्थायी पोस्ट जो कि फिंगर 3 पर है, वहीं तक सीमित रहना पड़ेगा.  

Loading...
E-Paper