उच्च शिक्षा विभाग में पहली बार ऑनलाइन तबादले की शुरू हुई व्यवस्था

राजकीय महाविद्यालयों के शिक्षकों के ऑनलाइन तबादलों की शुरुआत उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और उच्च शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह ने बुधवार को विधानसभा सचिवालय से की। उच्च शिक्षा विभाग में पहली बार ऑनलाइन तबादले की व्यवस्था शुरू की गई है। एक क्लिक से 170 प्रवक्ताओं का उनके दिए विकल्पों में वरीयता के आधार पर तबादला किया गया।

सभी को उनके पंजीकृत मोबाइल फोन पर मेसेज और ई-मेल पर आदेश की कॉपी भी उपलब्ध करा दी गई।  डॉ. दिनेश शर्मा ने बताया कि सरकारी कॉलेजों में शिक्षकों की कार्य संतुष्टि को अधिकतम करने और छात्रों के  शैक्षिक हित को देखते हुए ऑनलाइन तबादला नीति अपनाई गई है।

इससे पारदर्शिता और समानता के आधार पर तबादले हो सकेंगे। स्थानांतरण के लिए सत्र 2018-19 में ऑनलाइन आवेदन की तिथि 5 से 10 जून 2018 रखी गई थी। प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों के 315 शिक्षकों ने तबादले के लिए आवेदन किया था। इनमें से 170 प्रवक्ताओं के तबादले खाली पदों पर किए गए हैं। 

Loading...

आदेशों पर होंगे डिजिटल हस्ताक्षर

सभी आदेशों पर निदेशक के डिजिटल हस्ताक्षर भी रहेंगे। उप मुख्यमंत्री ने बताया कि तबादलों में दावेदार अधिक होने पर उनकी जरूरत को अंकों के हिसाब से बांटा गया था। जिसके अंक अधिक पाए गए, सॉफ्टवेयर ने वरीयता के आधार पर उनका तबादला मांगे गए विकल्प पर कर दिया।

इस मौके पर सॉफ्टवेयर बनाने वाले एनआईसी के अधिकारी भी मौजूद थे। अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा संजय अग्रवाल ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा विभाग को भी ऑनलाइन तबादलों की शुरुआत करके भ्रष्टाचार मुक्त किया गया था। उसमें 581 शिक्षकों के तबादले किए गए थे। अब उच्च शिक्षा विभाग में भी ऑनलाइन व्यवस्था शुरू हो गई है।

Loading...