लोजपा के स्थापना दिवस पर ‘उम्मीदवार पर फैसला करने के लिए स्वतंत्र’ है भाजपा: चिराग

- in बिहार, राजनीति

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को बिना भाजपा का नाम लिए उसपर निशाना साधा है। चिराग ने कहा कि हाल ही में बिहार में हुए विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी ने बिना किसी गठबंधन और स्टार प्रचारकों के एक सीट पर जीत प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि पार्टी को 24 लाख वोट प्राप्त हुए, जो पार्टी के विस्तार का प्रतीक है। 

स्थापना दिवस के मौके पर उन्होंने एक पत्र लिखा है। पत्र में पिता रामविलास पासवान को याद करते हुए उन्होंने कहा कि पापा हमेशा चाहते थे कि बिना किसी गठबंधन के पार्टी अकेले दम पर चुनाव लड़े ताकि पार्टी की नींव को मजबूत किया जा सके। 2020 के चुनाव ने यह साबित कर दिया है कि लोजपा के पास एक मजबूत जनाधार है, जो आने वाले चुनाव में पार्टी को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगा।

लोजपा अध्यक्ष ने बिहार में समय से पूर्व विधानसभा चुनाव होने की आशंका जताते हुए कार्यकर्ताओं को तैयारियों में जुटे रहने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा, ‘चुनाव के लिए तैयार रहें। कभी भी बिहार में चुनाव हो सकते हैं। इस समय मौजूदा स्थिति में जिस तरह की सरकार चल रही है तो पार्टी के लोगों से मैं इस बात का जरूर आग्रह करता हूं कि तमाम सीटों पर अपनी मजबूत तैयारी रखें। कभी भी चुनाव की घोषणा हो सकती है।’

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव द्वारा एक दूसरे पर की गई व्यक्तिगत टिप्पणी को लेकर चिराग ने कहा, ‘बिहार विधानसभा में हमने पहले कभी इस स्तर की चर्चा नहीं देखी है। जहां एक दूसरे पर इतने ज्यादा व्यक्तिगत आरोप-प्रत्यारोप लगाए गए। भाषा की मार्यादा को तार-तार किया गया। मुझे नहीं लगता कि ये लोकतंत्र के लिए उचित है। आप नीतियों का विरोध कीजिए। एक दूसरे पर व्यक्तिगत आरोप नहीं लगाने चाहिए।’ 

उम्मीदवार पर फैसला करने के लिए भाजपा स्वतंत्र: चिराग

Loading...

बिहार में राज्यसभा की एक सीट पर होने वाले उपचुनाव में भाजपा द्वारा तवज्जो नहीं दिए जाने के बाद लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने शनिवार को कहा कि यह सीट भगवा पार्टी की है और उम्मीदवार के चयन के लिए वह पूरी तरह स्वतंत्र हैं ।

चिराग के पिता और लोक जनशक्ति पार्टी के संस्थापक रामविलास पासवान के निधन के बाद यह सीट रिक्त हो गई थी। भाजपा ने इस सीट पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को उम्मीदवार बनाया है। इस सीट पर महागठबंधन उम्मीदवार नहीं उतारता है तो सुशील मोदी का निर्विरोध चुना जाना लगभग तय है। विपक्ष द्वारा उम्मीदवार उतारे जाने की स्थिति में 14 दिसंबर को चुनाव होगा।

चिराग ने अपनी पार्टी के 20वें स्थापना दिवस पर एक कार्यक्रम में पत्रकारों से कहा कि ‘यह सीट भाजपा की है और यह फैसला उसे करना है कि वह उपचुनाव में किस पार्टी से उम्मीदवार खड़ा करना चाहती है। 

उन्होंने ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘इतने मुश्किल वक्त में भी मेरा हौसला नहीं टूटा । बिहार पर नाज करने के लिए अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लेना हुआ तो मैं घबराया नहीं। यहां कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें 15 साल सत्ता में रहने बाद भी तीन साथियों का सहारा लेना पड़ता है।’

Loading...