दिल्ली-हावड़ा रूट पर ट्रेन ड्राईवर को नहीं दिखा रेड सिग्नल, धड़धड़ाते हुए निकल गई ट्रेन

कानपुर। हावड़ा दिल्ली रूट पर आज अजीबोगरीब हादसे की स्थिति बनी। इससे करीब एक घंटे तर रेल यातायात प्रभावित रहा और कई महत्वपूर्ण ट्रेनें विलंबित हो गईं। फतेहपुर के फैजुल्लापुर रेलवे स्टेशन के पास रेड सिग्नल के बावजूद इंटरसिटी ट्रेन धड़धड़ाते निकल गई। घटना से रेलवे महकमे में खलबली मच गई। रेल यात्रियों में भी बेचैनी बढ़ गई।

महकमा ने एक्शन लेते हुए कुछ दूर रसूलाबाद स्टेशन में फिर रेड सिग्नल देकर ट्रेन रुकवाई। इस कारण दिल्ली-हावड़ा रूट की डाउन लाइन एक घंटे तक ठप रही। ट्रेन के लोको पायलट का कहना था कि ब्रेक न लगने की वजह से ट्रेन गुजर गई। महकमे ने एहतियातन इंटरसिटी में मालगाड़ी का इंजन लगवा दूसरे लोको पायलट के साथ रवाना की। मामले की सत्यता जानने के लिए जांच की जा रही है। लोको पायलट नशे में तो नहीं था, मेडिकल के लिए उसे इलाहाबाद भेज दिया गया। 

लोको पायलट को नीचे उतारा

इंटरसिटी ट्रेन सुबह फतेहपुर स्टेशन से इलाहाबाद के लिए रवाना हुई। फैजुल्लापुर स्टेशन के समीप ट्रेन को रेड सिग्नल मिला लेकिन, लोको पायलट ने गाड़ी नहीं रोकी। इस पर गार्ड ने कंट्रोल रूम में सूचना दी। आनन फानन रसूलाबाद रेलवे स्टेशन में आठ बजकर 25 मिनट पर गाड़ी रुकवाई गई। रेलवे पुलिस ने लोको पायलट को नीचे उतारा। यातायात निरीक्षक नवीन कुमार समेत विभागीय अफसर मौके पर पहुंचे। नौ बजकर 25 मिनट तक डाउन लाइन पर इंटरसिटी खड़ी रही, जिससे संगम एक्सप्रेस व मालगाड़ी पीछे फंसी रही। यातायात निरीक्षक नवीन कुमार व आरपीएफ कंपनी कमाण्डर दिनेश सोलंकी मौके पर पहुंचे।

Loading...

लोकमान्य का इंजन फेल

लोकमान्य गुवाहाटी एक्सप्रेस का इंजन गुरुवार की सुबह 10 बजे गाजीपुर के धीना स्टेशन के पास अचानक खराब हो गया। दो घंटे बाद दूसरा इंजन मुगलसराय से पहुंचा। इसके बाद ट्रेन आगे की ओर रवाना हुई। इंजन खराब होने पर चालक ने इसकी जानकारी स्टेशन को दी। वहां से इसकी सूचना दानापुर नियंत्रण कक्ष को प्रसारित की गई।

नियंत्रण कक्ष की सूचना पर चालक ने ट्रेन को डाउन लूप लाइन में लाकर खड़ा कर दिया। इस दौरान चालक ने भी इंजन को ठीक करने का काफी प्रयास किया। दोपहर 12 बजे दूसरा इंजन मुगलसराय से पहुंचा तब जाकर ट्रेन दो घंटे बाद आगे की ओर रवाना हुई। इसके बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली। हालांकि ट्रेन के लूप लाइन में खड़ा होने के कारण परिचालन पर इसका कोई असर नहीं पड़ा।

Loading...