UP Shikshak Bharti: सीएम योगी आदित्यनाथ ने सहायक अध्यापकों को प्रदान किया नियुक्ति पत्र

- in राजनीति

 लम्बे समय तक कोर्ट-कचहरी का चक्कर लगाने के बाद भी अधर में लटके सहायक अध्यापकों का लम्बा इंतजार खत्म हो गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर 31,277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उन्होंने पांच लाभार्थियों को अपने हाथ से नियुक्ति पत्र प्रदान किया। इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रदेश के 68 जिलों में इसकी शुरुआत की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर 31,277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उन्होंने पांच लाभार्थियों को अपने हाथ से नियुक्ति पत्र प्रदान किया। इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रदेश के 68 जिलों में इसकी शुरुआत की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुझे प्रसन्नता है कि हमने 69,000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। प्रथम चरण में 31,277 नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किया जा रहा है। जिस शुचितापूर्ण व पारदर्शी तरीके से यह कार्य किया गया, यह अपने आप में एक उपलब्धि है। मैं बेसिक शिक्षा विभाग को प्रदेश के 31,277 युवाओं को नियुक्ति पत्र प्रदान करने लिए हृदय से धन्यवाद देता हूं। साथ ही नवनियुक्त शिक्षकों को बधाई देता हूं और सभी के प्रति अपनी शुभकामनाएं व्यक्त करता हूं। योग्यता और क्षमता की कहीं पर उपेक्षा नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का यह अवसर नवनियुक्त शिक्षकों की योग्यता और क्षमता को सम्मान देने का है। इनके अनुभव का लाभ बेसिक शिक्षा परिषद ले सके, इसे भी जानने का एक अवसर है। मुझे प्रसन्नता है कि हमने 69,000 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। प्रथम चरण में 31,277 नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति-पत्र प्रदान किया जा रहा है। जिस शुचितापूर्ण व पारदर्शी तरीके से यह कार्य किया गया, यह अपने आप में एक उपलब्धि है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस अवसर पर कहा कि आप सभी को नियुक्ति पत्र मिलने की बधाई। आप लोग बेहद पुनीत कार्य में शामिल हो रहे हैं। मैं बेसिक शिक्षा परिवार में नवनियुक्त शिक्षकों के आगमन पर सबका अभिनंदन करता हूं और शुभकामनाएं देता हूं। पिछले साढ़े तीन वर्ष के दौरान प्रदेश में बेसिक शिक्षा क्षेत्र में बहुत सारे परिवर्तन देखने को मिले हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपका प्रयास प्रदेश में शिक्षा की नींव को बेहद मजबूती देने का होना चाहिए। आप सभी लोग सरकार की तरफ से मिले इस मौके का पूरा लाभ लेकर महकमे को नई ऊंचाईं दें। उन्होंने कहा कि इस समय प्रदेश के 68 जिलों में लाभार्थियों के साथ केंद्र सरकार के मंत्रीगण, हमारी सरकार के मंत्रीगण तथा जनप्रतिनिधि इस महान अवसर के साक्षी बनें हैं। सरकार का प्रयास इस मुश्किल समय में भी अपना श्रेष्ठ करने का है। इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग के मंत्री तथा अधिकारी भी बधाई के पात्र हैं कि उन्होंने चयन प्रक्रिया को कम समय में ही पूरा करने के काम को चुनौती के रूप में लिया।

Loading...

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरण करने में मुझे हार्दिक प्रसन्नता हो रही है। यह इनकी कड़ी मेहनत का परिणाम है। मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। जो मेहनत करते हैं उन्हे सफलता मिलती है। आप जैसे युवाओं के हाथ में बागडोर मिलने से बेसिक शिक्षा में बड़ा परिवर्तन होगा, ऐसा मुझे तथा सरकार को भरोसा है।

उन्होंने कहा कि नियुक्ति पत्र तैयार करने में आरक्षण के सभी नियमों का पालन हुआ है। पिछली सरकारों ने गलत तरीका अपनाया था। अब यूपी में कोई जातिवाद तथा भेदभाव नहीं है। सभी को वरीयता तथा योग्यता के हिसाब से काम मिल रहा है। बेसिक शिक्षा विभाग को अभी भी काफी लम्बी लड़ाई लडऩी है। अभी भी यहां पर काफी शिक्षकों की जरूरत है।

बेसिक शिक्षा परिषद ने शिक्षक भर्ती के लिए काउंसिलिंग की मियाद दो दिन तय की थी। अधिकांश जिलों में पहले ही दिन बड़ी संख्या में अनंतिम सूची के अभ्यर्थी पहुंचे, शेष ने दूसरे दिन काउंसिलिंग कराई। परिषद सचिव प्रताप सिंह बघेल ने बताया कि काउंसिलिंग पूरी हो गई है। शीर्ष कोर्ट के आदेश पर परिषदीय स्कूलों में 69000 शिक्षक भर्ती के सापेक्ष 31661 पदों पर नियुक्ति देने की प्रक्रिया शुरू हुई। परिषद ने सोमवार को 31277 अभ्यर्थियों की अनंतिम सूची जारी की थी। सभी जिलों में बुधवार व गुरुवार को काउंसिलिंग कराई गई। इसमें अभ्यर्थियों के सभी शैक्षिक व प्रशिक्षण मूल अभिलेखों का भर्ती के लिए आनलाइन आवेदन रिकार्ड से मिलान कराया गया।

 

Loading...