रामायण में किस शख्स ने निभाया था सुषेण वैद्य का किरदार…जानिए

- in मनोरंजन

रामानंद सागर की रामायण के बारे में सुनील लहरी ने अभी तक कई सारे किस्से सुनाये है | वहीं वनवास से लेकर लंका प्रस्थान तक सभी सीन्स को सुनील लहरी ने बेहद बारीकी से फैंस को समझाया है. सुनील लहरी ने रामायण के एक और सीन के बारे अपने लेटेस्ट वीड‍ियो में बताया है|असल में सुनील ने उस व्यक्ति के बारे में बताया है जिसने लक्ष्मण की जान बचाई थी.

दरअसल सुनील लहरी बताते हैं कि रामायण में जब लक्ष्मण मूर्च्छ‍ित हो जाते हैं तो हनुमान सुषेण वैद्य को लेकर आ जाते हैं. सुषेण वैद्य का रोल एक पंड‍ित जी ने निभाया था. बता दें की वे उज्जैन के महाकाल मंद‍िर के पंड‍ित थे. उन्हें रामायण बहुत पसंद था. एक बार जब वे रामायण की शूट‍िंग देखने उमरगांव आए थे तो रामानंद सागर से मिलकर खूब बातें की थी. रामानंद जी उनसे काफी ज्यादा प्रभाव‍ित हो गए थे.

Loading...

उस समय शो में सुषेण वैद्य के रोल के लिए एक आर्ट‍िस्ट की भी जरुरत थी. तब रामानंद सागर ने तुरंत वह रोल पंड‍ित जी को ऑफर कर दिया. पंड‍ित जी ने खुशी खुशी उस किरदार को निभाने के लिए हाँ कर दी . रोल करने के बाद पंड‍ित जी काफी पॉपुलर हो गए थे . जब वे उज्जैन वापस गए तो वहां उन्होंने पंड‍िताई छोड़ दी और वैद्यगिरी का रास्ता अपना लिया था. वहीं उनका यह काम भी काफी अच्छा चलने लगा था .रामायण के लक्ष्मण यानी सुनील लहरी ने इस किस्से के अलावा एक और किस्सा सुनाया. वे बताते हैं- ‘जयपुर में हमें फ्लाइट से लैंड करना था परन्तु  वहां सैंडस्टॉर्म आया हुआ था, इसल‍िए हम लैंड नहीं कर पा रहे थे. वहां बारह सौ, पंद्रह सौ लोग भी हमें देखने के लिए खड़े हुए थे |परन्तु आंधी की वजह से हमारा वहां उतरना सेफ नहीं था. हमने पायलट के केबिन से पब्ल‍िक को अपनी समस्या बताई और लोगों ने हमारी बात समझी.

वहीं इससे पहले सुनील ने मगरमच्छ संग हनुमान की लड़ाई की सचाई भी बताई थी. उन्होंने बताया क‍ि मगरमच्छ के साथ हनुमान की फाइट सीन फाइबर के मगरमच्छ के साथ शूट हुई थी. जबकि सीन में असली मगरमच्छ का भी उपयोग किया गया था. इसके पहले एक्टर ने लक्ष्मण और मेघनाद युद्ध का किस्सा भी सुनाया था जिसके बाद सुनील को इंफेक्शन हो गया था. सुनील आगे कहते हैं कि रेत में खुले बदन लेटने की वजह से उनके पूरे शरीर में रैड रैसेज और खुजली हो गई थी. एक्टर को इसके लिए पूरे शरीर में लोशन लगाना पड़ा था और दवा लेनी पड़ गयी थी जिसके बाद पूरे एक दिन के बाद वो ठीक हुए. इसके अलावा सुनील ने लोगों को रामायण में यूज किए जाने वाले सभी टेक्नीकल इफेक्ट्स से भी अवगत करा दिया है. उन्होंने क्रोमा, ग्राफिक्स और मिनिएचर मॉडल के बारे में दर्शकों को बताया है.

Loading...