मौसम विभाग का अनुमान गर्मी से जल्द मिलेगी राहत, 29-30 मई को धूल भरी आंधी के साथ हो सकती है बारिश

मई खत्म होने से पहले ही गर्मी ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. चिलचिलाती गर्मी और गर्म हवाओं से राहत की उम्मीद लगाए बैठे लोगों के लिए अच्छी खबर है. मौसम विभाग का अनुमान है कि उत्तरी भारत के कई हिस्सों में 29-30 मई को धूल भरी आंधी के साथ बारिश हो सकती है, जिससे गर्मी से राहत मिलेगी.

पिछले कुछ दिनों में दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस को पार कर चुका है. रविवार को मौसम विभाग ने उत्तरी भारत के लिए 25-26 मई को रेड अलर्ट जारी किया था जब तापमान के चरम पर पहुंचने की आशंका थी.

स्थानीय मौसम विभाग के प्रमुख, कुलदीप श्रीवास्तव के अनुसार, 29-30 मई को वेस्टर्न डिस्टर्बेंस और पूर्वी हवाओं की वजह से दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में धूल भरी आंधी के साथ बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग ने आशंका जताई कि इस दौरान 50-60 किमी प्रति घंटे की रफतार से हवाएं चल सकती हैं. विभाग ने अपने बुलेटिन में यह भी कहा कि 25-27 मई को हरियाणा, दिल्ली, चंडीगढ़ और राजस्थान के साथ उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश और विदर्भ के कुछ हिस्सों में गर्म हवाओं और चिंहित जगहों पर भयंकर गर्म हवाओं के आसार बन रहे हैं.

Loading...

पंजाब, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, आंतरिक ओडिशा, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, आंतरिक आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार और झारखंड की चिंहित जगहों में भी अगले 2-3 दिनों में गर्म हवाएं चल सकती हैं.

मौसम विभाग ने अपने बुलेटिन में कहा, ‘उत्तरी-पश्चिमी भारत, मध्य भारत के मैदानी इलाकों और पूर्वी भारत से सटे हुए इलाकों में शुष्क पछुआ हवाओं की वजह से, 25 और 26 मई के साथ 28 मई को गर्मी चरम पर रहने की आषंका है.’

इस दौरान दिल्ली में पाॅवर सप्लाई की मांग इस सीजन में अभी तक की सबसे ज्यादा थी, जो 24 मई 2020 की रात को 5268 मेगावाट रिकाॅर्ड की गई थी, यह 24 मई 2019 की 5094 मेगावाट की पीक पाॅवर डिमांड से थोड़ी सी ही ज्यादा है. उत्तरी भारत में भीषण होती गर्मी की वजह से पाॅवर डिमांड में यह उछाल आया है.

Loading...