इंग्लैंड के खिलाड़ी ने माना की आइपीएल की वजह से हुआ इंग्लिश क्रिकेट का काफी विकास

- in खेल

IPL यानी इंडियन प्रीमियर लीग में खेलने के लिए दुनिया का हर क्रिकेटर बेताब रहता है। इस लीग में पहले इंग्लैंड के क्रिकेटरों को खेलने की इजाजत नहीं थी, लेकिन वक्त से साथ-साथ बदलते हालात को देखते हुए इंग्लिश क्रिकेटरों को भी यहां खेलनेे की इजाजत मिली और दुनिया के सबसे बड़े टी20 लीग में आज कई इंग्लैंड के क्रिकेटर इसका हिस्सा हैं।

इंग्लैंड क्रिकेटरों में से एक जोस बटलर ने अब आइपीएल की जमकर तारीफ की है और कहा है कि इस लीग ने इंग्लिश क्रिकेट के विकास में बहुत मदद की है। यही नहीं उन्होंने ये भी माना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) वर्ल्ड कप के बाद दुनिया का बेस्ट टूर्नामेंट है। उन्होंने ये भी कहा कि वो आइपीएल के इस सीजन में खेलने को लेकर बेताब हैं, लेकिन कोविड 19 महामारी की वजह से ये लीग फिलहाल तो अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज जोस बटलर आइपीएल में दो टीमों की तरफ से खेल चुके हैं। साल 2016-17 में वो मुंबई के लिए खेले थे जबकि साल 2018 में वो राजस्थान रॉयल्स फ्रेंचाइजी का हिस्सा बने थे। बीबीसी पेडकास्ट द दूसरा में जोस बटलर ने कहा कि मैं इस बात को मानने में बिल्कुल भी पीछे नहीं हटूंगा कि आइपीएल ने इंग्लैंड क्रिकेट साथ ही पिछले कुछ साल में इंग्लिश क्रिकेटर जो भी इस लीग के साथ जुड़े हैं उनके विकास में बहुत ही ज्यादा मदद की है।

Loading...

बटलर ने कहा कि सच कहूं तो मैं इस लगी में खेलने के लिए काफी बेताब था और मेरे मुताबिक ये लीग वर्ल्ड कप से बाद दुनिया के दूसरा सर्वश्रेष्ठ टूर्नामेंट है। उन्होंने कहा कि आइपीएल की टीमों में खिलाड़ियों का कांबिनेशनल बेहतरीन होता है। आप देखें तो बैंगलोर की टीम में विराट कोहली, एबी डिविलियर्स और क्रिस गेल रहे हैं और उन्हें लसिथ मलिंगा, जसप्रीत बुमराह या फिर डेल स्टेन के खिलाफ बल्लेबाजी करते देखना शानदार है।

आपको बता दें कि गेल अब पंजाब टीम का हिस्सा हैं। वो पहले बैंगलोर के साथ जुड़े हुए थे। उन्होंने कहा कि बचपन में आप फैंटेसी क्रिकेट खेलते देखना चाहते हैं जिसमें कोई भी चाहेगा कि विराट कोहली और एबी डिविलियर्स एक साथ खेलें। यानी इस लीग में हम वो भी देख सकते हैं जिन्हें विश्व क्रिकेट में एक साथ खेलते देखना कभी संभव नहीं है।

Loading...