रिषभ पंत नहीं तो कोई नहीं, आखिरकार संजू सैमसन को क्यों नहीं दिया गया मौका?

Loading...

भारतीय क्रिकेट टीम इस वक्त ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज खेल रही है और रिषभ पंत चोटिल होकर पहले मैच में नहीं खेल पाए थे। यही नहीं वो दूसरे वनडे में भी नहीं खेल पाएंगे। पहले मैच में भी केएल राहुल ने विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभाली थी तो वहीं ऐसा लग रहा है कि वो दूसरे मैच में भी ये भूमिका निभाएंगे। सच कहा जाए तो टीम इंडिया में इस वक्त रिषभ की जगह पर कोई विशेषज्ञ विकेटकीपर नहीं है। केएल राहुल कामचलाऊ विकेटकीपर हैं और ये जिम्मेदारी फिलहाल वनडे टीम में संभाल रहे हैं।

केएल राहुल कितने फायदेमंद

इस बात का जिक्र यहां इस वजह से किया जा रहा है कि क्या देश में विकेटकीपरों की कमी हो गई है कि रिषभ के चोटिल होने के बाद केएल राहुल से काम चलाया जा रहा है जो विशुद्ध बल्लेबाज हैं। राहुल के पास शायद विकेटकीपिंग का वो स्किल नहीं है जो एक शुद्ध विकेटकीपर में होता है। विकेटकीपर विकेट के पीछे सिर्फ गेंद को पकड़ने के लिए ही खड़ा नहीं होता बल्कि वो कई ऐसे काम करता है जिससे गेंदबाजों को मदद मिलती है।

धौनी के बारे में सोच कर देखिए वो जब कप्तान नहीं थे तब भी गेंदबाजों के लिए किस तरह से फायदेमंद साबित होते थे। क्या केएल राहुल जैसे कामचलाऊ विकेटकीपर उस तरह की भूमिका निभा सकते हैं और वो तब जब आप ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के खिलाफ अपनी धरती पर मैच खेल रहे हैं। यहां ऐसा लग रहा है जैसे कोई मजाक चल रहा है या फिर बोर्ड इस नीति पर चल रही है कि रिषभ नहीं तो कोई नहीं बस काम चला लो।

संजू सैमसन को

विकेटकीपरों की बात करें तो भारत में इसकी कोई कमी नहीं है। संजू सैमसन को जब टी 20 टीम में रिषभ के विकल्प के तौर पर शामिल किया जा सकता है तो वनडे में क्यों नहीं। वो बल्लेबाज भी अच्छे हैं और घेरलू क्रिकेट में काफी रन भी बना चुके हैं। उन्हें कई बार टीम में शामिल किया गया, लेकिन पांच साल के बाद श्रीलंका के खिलाफ आखिरी टी 20 में मौका दिया गया। इस मैच में वो सिर्फ छह रन बना पाए और आउट हो गए। इसके बाद उनका क्या होगा पता नहीं। वैसे रिषभ के वनडे से बाहर होने के बाद ये एक शानदार मौका था जब उन्हें टीम में शामिल किया जा सकता था और खुद को साबित करने का मौका दिया जा सकता था। जब रिषभ को आप बार-बार मौके दे रहे हैं तो संजू को क्यों नहीं।

बीसीसीआइ सलाना अनुबंध में शामिल नहीं संजू सैमसन

अब एक और दिलचस्प बात सामने आई कि बीसीसीआइ ने अपने सालाना अनुबंध की घोषणा कर दी। इस अनुबंध में साहा और रिषभ शामिल हैं। अब साहा तो वनडे या टी 20 खेलते नहीं हैं तो रिषभ ही वनडे और टी 20 कि जिम्मेदारी संभालेंगे। अब टेस्ट में अगर साहा चोटिल हो गए तो रिषभ उनकी जगह आ सकते हैं, लेकिन जब रिषभ घायल हो जाएं तो वनडे और टी 20 में विकेटकीपर की भूमिका कौन निभाएगा। तो क्या अब सिमित ओवरों के प्रारूप में टीम इंडिया केएल राहुल को विकल्प के तौर पर देख रही है। वैसे सवाल तो कई हैं, लेकिन जवाब देने वाला कोई नहीं है। हालांकि संजू ने अनुबंध लिस्ट जारी होने के बाद अपना रिएक्शन दिया। अब आप खुद ही देख लिजिए कि उन्होंने क्या प्रतिक्रिया दी।

Loading...