इस बार ‘मन की बात’ में PM मोदी ने युवाओं को दिया ये बड़ा तोहफा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को देशवासियों से ‘मन की बात’ की. पीएम की ‘मन की बात’ का ये 43वां एपिसोड था. ‘मन की बात’ की शुरुआत करते ही पीएम मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी. वहीं, युवाओं के लिए पीएम ने समर इंटर्नशिप का ऐलान किया. मोदी ने कहा, ‘क्लीन इंडिया मिशन को लेकर अब सरकार समर इंटर्नशिप कराएगी. इसमें हिस्सा लेने वाले युवाओं को यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (यूजीसी) की ओर से क्रेडिट प्वॉइंट्स भी मिलेंगे.

पढ़ें मोदी के ‘मन की बात’ की खास अंश:-

मोदी ने कहा, “हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में हुए 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत सहित दुनिया के 71 देशों ने हिस्सा लिया. हमारे खिलाडियों ने देशवासियों की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया. ये सफ़लता हर भारतीय को गर्व दिलाती है.”

पीएम ने कहा, “हर भारतीय को ये सफलता गर्व दिलाती है. मेडल जीतना खिलाड़ियों के लिए गर्व और खुशी की बात होती ही है. ये पूरे देश के लिए, सभी देशवासियों के लिए अत्यंत गौरव का पर्व होता है.”

पीएम ने युवाओं से अपील कि है, “आप सब ज्यादा से ज्यादा तादाद में स्वच्छ भारत समर इंटर्नशिप में हिस्सा लें और देश को स्वच्छ बनाने में अमूल्य योगदान दें. इस इंटर्नशिप में हिस्सा लेने वालों को सरकार की तरफ से इनाम भी दिया जाएगा.”

उन्होंने कहा, “बिना खर्च के फिट इंडिया के मूवमेंट का नाम योग है. फिट इंडिया कैंपेन में योग की खास अहमियत है. हमें इसे आगे बढ़ाना चाहिए.”

पीएम मोदी ने जल-संरक्षण करने का भी आह्वान किया. उन्होंने कहा, “क्या हमें नहीं लगता है कि जल-संरक्षण सामाजिक जिम्मेदारी होनी चाहिए.” उन्होंने कहा, “भारतीयों के दिल में जल-संरक्षण ये कोई नया विषय नहीं है. किताबों का विषय नहीं है, भाषा का विषय नहीं रहा. सदियों से हमारे पूर्वजों ने इसे जी करके दिखाया है. एक-एक बूंद पानी की अहमियत को उन्होंने प्राथमिकता दी है.”

Loading...

कविगुरु रविंद्रनाथ टैगोर के याद करते हुए पीएम ने कहा, “”गुरुदेव टैगोर ज्ञान और विवेक से संपूर्ण व्यक्तित्व वाले थे, जिनकी लेखनी ने हर किसी पर अपनी अमिट छाप छोड़ी. एक प्रतिभाशाली और बहुआयामी व्यक्तित्व थे, लेकिन उनके अंदर एक शिक्षक था जिसे हर पल हम अनुभव कर सकते हैं. हम उनके योगदान के लिए अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं.”

पीएम ने पैंगबर मोहम्मद साहब के संदेश का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘पैगंबर मोहम्मद साहब की शिक्षा और उनके संदेश को याद करने का यह अवसर है. उनके जीवन से समानता और भाईचारे के मार्ग पर चलना यह हमारी जिम्मेदारी बनता है.”

पीएम मोदी ने कहा, “कुछ ही दिनों में रमजान का पवित्र महीना शुरू हो रहा है. विश्वभर में रमजान का महीना पूरी श्रद्धा और सम्मान से मनाया जाता है. रमजान में रोजे रखे जाते हैं और इसका सामाजिक पहलू ये है कि जब इंसान खुद भूखा होता है तो उसे दूसरे की भूख का एहसास होता है.”

बता दें कि ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए देश भर से लोग अपने सुझाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से साझा करते हैं. चुने हुए कुछ विचारों को कार्यक्रम में शामिल किया जाता है. इस कार्यक्रम का पहला प्रसारण 3 अक्टूबर 2014 को किया गया था.’मन की बात’ को लेकर पीएम मोदी ने रविवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “ऐसे कई नागरिक हैं, जिन्होंने अपने परिश्रम से देश का गौरव बढ़ाया है. चलिए आज ‘मन की बात’ में उनकी बात करते हैं.

Loading...