बिना ऑपरेशन के करें पथरी का इलाज…

Loading...

वर्तमान समय के गलत खानपान के चलते कई बीमारियां आपको परेशान करती हैं। इन्हीं में से एक हैं पथरी की बिमारी जिसमें शुरू में बने छोटे-छोटे दाने बढ़ते हुए बड़े हो जाते हैं और पथरी का रूप ले लेते हैं। इसी के साथ पेशाब में भी गाढ़ापन आने लग जाता हैं और असहनीय दर्द की पीड़ा होती हैं। लोग मानते हैं कि इसका इलाज सिर्फ ऑपरेशन ही हैं। जबकि कुछ घरेलू उपचारों की मदद से भी पथरी को दूर किया जा सकता हैं। तो आइये जानते हैं उन उपचारों के बारे में जो पथरी से छुटकारा दिलाने में कारगर साबित होते हैं। तो आइये जानते हैं इनके बारे में।

– जीरे और चीनी को समान मात्रा में पीसकर एक-एक चम्मच ठंडे पानी से रोज तीन बार लेने से लाभ होता है और पथरी निकल जाती है।

– सहजन की सब्जी खाने से गुर्दे की पथरी टूटकर बाहर निकल जाती है। आम के पत्ते छांव में सुखाकर बहुत बारीक पीस लें और आठ ग्राम रोज पानी के साथ लीजिए, फायदा होगा।

– मिश्री, सौंफ, सूखा धनिया लेकर 50-50 ग्राम मात्रा में लेकर डेढ लीटर पानी में रात को भिगोकर रख दीजिए। अगली शाम को इनको पानी से छानकर पीस लीजिए और पानी में मिलाकर एक घोल बना लीजिए, इस घोल को पी‍जिए। पथरी निकल जाएगी।

– नारियल का पानी पीने से पथरी में फायदा होता है। पथरी होने पर नारियल का पानी पीना चाहिए।

– 15 दाने बडी इलायची के एक चम्मच, खरबूजे के बीज की गिरी और दो चम्मच मिश्री, एक कप पानी में मिलाकर सुबह-शाम दो बार पीने से पथरी निकल जाती है।

– पका हुआ जामुन पथरी से निजात दिलाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पथरी होने पर पका हुआ जामुन खाना चाहिए।

– आंवला भी पथरी में बहुत फायदा करता है। आंवला का चूर्ण मूली के साथ खाने से मूत्राशय की पथरी निकल जाती है।

– तुलसी के बीज का हिमजीरा दानेदार शक्कर व दूध के साथ लेने से मूत्र पिंड में फ़ंसी पथरी निकल जाती है।

– जीरे को मिश्री की चासनी अथवा शहद के साथ लेने पर पथरी घुलकर पेशाब के साथ निकल जाती है।

Loading...