पेट की बढ़ती चर्बी परेशानी का कारण….

Loading...

आजकल देखा जा रहा हैं कि अधिकतर जनता अपने पेट की बढती चर्बी और मोटापे से पीड़ित हैं। यह आपकी पर्सनेलिटी को कम कर देता है और कई तरह की बीमारियों को भी बढ़ावा देता है। ऐसे में जरूरी हैं कि समय रहते इस पर नियंरण किया जाए और इसे कम करने के प्रयास किए जाए। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसे योगासन लेकर आए हैं जिनको अपनाने से ना केवल आपकी पेट की चर्बी कम होगी बल्कि शरीर में स्फूर्ति आएगी। तो आइये जानते हैं इन योगासन के बारे में।

कपालभाति प्राणायाम

आरामदायक आसन की स्थिति में बैठ कर सिर और रीढ़ की हड्डी को सीधा करते हुए हाथों को घुटनों पर ज्ञान मुद्रा में रखें। आंखें बंद करके शरीर को ढीला छोड़ दें। अब दोनों नासिका से गहरी सांस लें और फिर पेट की मांसपेशियों को सिकोड़ते हुए सांस को बाहर निकाल दें। शुरुआत में यह प्रक्रिया 10 मिनट तक करें इसके बाद आप इसे बढ़ा भी सकते है।

परिवृत्त पार्श्वकोणासन

ताड़ासन की स्थिति में खड़े हो जाएं और अपने पैरों को 4 से 4।5 फीट तक खोलें। अब अपने दोनों हाथों को दोनों दिशाओं में पंख की तरह खोले। इसके बाद अपने बाएं हाथ को दाहिने पंजे के पास झुका कर लाएं और हथेली की जमीन पर रख दें। अपने दाएं हाथ को ऊपर की दिशा में ही सीधा रखें। इस पॉजीशन में 10 सेकंड तक रुके उसके बाद अपनी पहली वाली पॉजीशन में आ जाएं। अब इस प्रक्रिया को दूसरे हाथ से करें। इस प्रक्रिया को 10 बार दोहराएं।

पाद हस्तासन

पाद हस्तासन करने के लिए सीधे खड़े हो जाएं। अब धीरे-धीरे अपने कूल्हों से झुकते हुए अपने हाथों की अंगुलियों से पैरों को छूने की कोशिश करें। कुछ सेकेंड इसी पॉजीशन में रहकर दोबारा अपनी सीधे खड़े हो जाए।

Loading...