कुछ इस तरह 15 मिनट के भाषण में राहुल ने लिया 17 बार PM मोदी का नाम

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को संविधान बचाओ अभियान की शुरुआत की. दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से राहुल गांधी ने 2019 लोकसभा चुनावों के लिए हुंकार भरी. राहुल ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला.

राहुल ने अपने लगभग 30 मिनट के भाषण में लगभग 17 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिया. दलितों का मुद्दा हो या फिर सुप्रीम कोर्ट का मुद्दा. राहुल के निशाने पर सिर्फ पीएम मोदी ही रहे और उन्होंने हर बार सीधे तौर पर उनका नाम लेकर ही वार किया. राहुल ने इस दौरान कहा कि अगर वो 15 मिनट बोले तो पीएम मोदी उनके सामने खड़े नहीं हो पाएंगे.

मोदी को सिर्फ मोदी में दिलचस्पी समेत किए ये बड़े वार…

1. इस कार्यक्रम में राहुल बोले कि जो मोदी की विचारधारा है वो देश के हर व्यक्ति को समझनी चाहिए. राहुल बोले कि दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहा है. मोदी के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है.

2. दलितों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहा है लेकिन मोदी जी लगातार चुप रहे हैं. यूपी, ऊना जैसे मामले सामने आ रहे हैं. कांग्रेस ने गुजरात में आवाज़ उठाई तब तीन दिन बाद स्टेज पर मोदी जी आते हैं और आंसू निकल आते हैं.

3. राहुल ने कहा कि सरकार ने उन्हें संसद में बोलने से रोका, अगर वो राफेल और नीरव मोदी के मुद्दे पर अगर मैं 15 मिनट संसद में बोलूं तो नरेंद्र मोदी जी खड़े नहीं हो पाएंगे.

4. कार्यक्रम में राहुल बोले कि पहली बार सरकार ही संसद नहीं चल रही है. राहुल ने कहा कि मोदी जी ने अपने सांसदों और विधायकों से कहा कि तुम लोग मीडिया को मसाला देते हो. राहुल ने वार करते हुए कहा कि अब देश सिर्फ प्रधानमंत्री की मन की बात सुनेगा.

5. राहुल ने कहा कि छोटी से बच्ची का रेप होता है, लेकिन बीजेपी के विधायक के बारे में प्रधानमंत्री ने कुछ नहीं कहा. आज IMF चीफ ने भी महिला सुरक्षा के बारे में बोला है.

6. राहुल ने कहा कि मोदी जी को सिर्फ मोदी से मतलब है. चाहे देश में कुछ भी हो जाए लेकिन वो नहीं बोलते हैं. पिछले चुनाव में 15 लाख रुपए देने का वादा किया और 2 करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात की.

7. राहुल ने कहा कि पहले नारा दिया बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और अब नया नारा दे रहे हैं बेटी बचाओ. लेकिन बेटी को बीजेपी से ही बचाओ.

8. राहुल ने कहा कि पूरी दुनिया में मोदी जी ने देश की छवि को खत्म कर दिया है.

9. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की किताब ‘कर्मयोगी-नरेंद्र मोदी’ के शब्दों से की. राहुल ने निशाना साधते हुए कहा कि जो टॉयलेट को साफ करता है, जो गंदगी उठाता है. उसका  क्या अध्यात्म नहीं होता, जो वाल्मिकी समाज करता है. राहुल ने कहा कि ये हमारे पीएम की सोच है कि वाल्मिकी समाज का व्यक्ति अपने पेट के लिए नहीं बल्कि अध्यात्म के लिए काम करता है.

10. कांग्रेस अध्यक्ष बोले कि हमारी पार्टी ने देश को संविधान दिया और उसकी 70 साल तक रक्षा भी की. आने वाले चुनाव में देश की जनता अपनी मन की बात बताएगी. सुप्रीम कोर्ट को कुचला जा रहा है, दबाया जा रहा है; पहली बार चार जज हिन्दुस्तान की जनता से न्याय मांग रहे हैं.

Loading...
E-Paper