दो सगी बहनो ने लगाईं फांसी

anchor——हरदोई जिले में  -महिलाओ और बालिकाओ की शोषण और प्रताड़ना की घटनाओ में बेतहाशा बृद्धि होती जा रही है जिस पर न तो शासन लगाम लगा पा  रहा है और न ही पुलिस —–आज ऐसी ही  दिल दहलादेनी वाली घटना घटी जिसमे एक संपन्न किसान की दो सगी बेटियों   ने अपने ही घर में एक कमरे की धन्नी से एक ही दुपट्टे में लटककर फांसी लगा  ली —और अपनी  जीवन लीला समाप्त कर ली—-

संदिग्ध अवस्था में घटी इस घटना से समूचे इलाके में सनसनी फैल गई और  हड़कंप मच गया –लड़कियों की माँ का  रो रो कर बुरा हाल है —–देखने वालो की भी आँखे नम हो गई—-और लोग भौच्चके से रह गए——-इस घटना को देखने के लिए भारी भीड़ मौके पर उमड़ पड़ी–क्षेत्राधिकारी हरियावा और भारी पुलिस बल मौके पर पहुँच गया —पुलिस दोनों शवों का  पंचनामा भरकर पोस्ट मार्टम करवाने की तैयारी  में जुट गई—-परिजनों ने इस घटना पर अपनी जुबान नही खोली—-और मूक दर्शन बन गए—-किलिंग आनर  की भी घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है —- —-पुलिस पोस्ट मार्टम रिपोर्ट आने के बाद और अपनी जांच के बाद ही कुछ कहने की स्थित में है——-

v.o–1—–हरदोई जिले के थाना  हरियावां के मरई गांव में शिवकुमार नाम का एक संपन्न किसान का परिवार रहता है –जिसका भरा पूरा  परिवार है–परिवार में एक पत्नी दो लड़के तथा   दो  -लडकियां थी—दोनों लड़के बाहर रहकर नौकरी करते है ——इसको कुदरत का प्रकोप कहें या दैवीय प्रकोप —-या कोई साजिश — —आज शिवकुमार की दो लड़कियों प्रिया और रुसी जो  इंटर और ग्यारहवें क्लास की छात्राएं थी ने अपने एक  दुपट्टे से एक साथ लटककर आत्म हत्या कर ली और फानी पर झूल गई——-जब ये घटना घटी तब इनके माता पिता घर पर नहीं थे घर में कोई नहीं था — खेतो पर गेहूं कटवा रहे थे—–

  किसान की  की दो सगी बेटियों और सगी बहनो  ने   कमरे की  धन्नी में एक ही दुपट्टे में लटककर फांसी  लगा ली —-और अपनी जीवन  लीला समाप्त कर ली——इसको क्या समझा जाय संजोग या साजिश या फिर दैवीय प्रकोप या किसी का श्राप —— –  फिलहाल पुलिस प्रथम दृष्टया घटना को आत्म  ह्त्या का मामला ही मान रही है  और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहने की ंस्थित में है—-
मरई गांव के प्रधान पहाड़ी सिंह से जब इस बावत बात की गई तो उन्होंने ने भी इस घटना को आत्म ह्त्या की घटना बताया और परिजनों को  बचाने  की सफाई पेश की—-प्रधान का कहना है की जब लड़कियों ने फांसी लगाई तो इनके माता पिता  गेहूं की फसल कटवा रहे थे—- और घर पर नहीं थे—-
बाइट—-पहाड़ी सिंह —-ग्राम प्रधान मरई हरदोई —
v.o–2—मौके पर  जांच करने पहुंचे -क्षेत्राधिकारी हरियावां सतेंद्र सिंह ने इस घटना को प्रथम दृष्ट्या आत्म हत्या की घटना बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया  —-पुलिस का कहना है की पोस्टमार्टम रिपोर्ट  आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है और  कोई  कार्यवाही की जा सकती है——पुलिस ने  मृतिकाओ की सभी किताबो और सामन की बारीकी से जांच की लेकिन कोई सबूत अभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है—–पुलिस अपनी जांच कर रही है फिलहाल मामला आत्म ह्त्या का ही मान रही है पुलिस—–
बाइट—–शैलेन्द्र सिंह –क्षेत्राधिकारी हरियावां हरदोई—
Loading...
E-Paper