भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को अभी गिरफ्तार नहीं करेगी पुलिस

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस उन्नाव के बांगरमऊ से भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को फिलहाल गिरफ्तार नहीं करेगी। प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह व प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने कहा कि पुलिस अभी सीबीआई जांच तक उन्नाव के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की गिरफ्तारी नहीं करेगी।

प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार व और डीजीपी ओपी सिंह ने आज मीडिया को इसकी जानकारी दी। ओपी सिंह तथा अरविंद कुमार ने कहा कि कोर्ट के बयान में पीडि़ता के किसी भी मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाम न लेने के कारण प्रदेश पुलिस उनकी गिरफ्तारी नहीं करेगी। 

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म सहित अन्य संगीन आरोपों की जांच सीबीआइ से कराने का फैसला किया है। पीडि़ता के पिता की हत्या की जांच भी सीबीआइ करेगी। राज्य सरकार के इस फैसले के बाद पुलिस ने देर रात विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले में लापरवाही बरतने के लिए एक पुलिस क्षेत्राधिकारी व दो डॉक्टरों को भी निलंबित कर दिया गया है। 

इससे पहले पूरे मामले की जांच के लिए उन्नाव गई एसआइटी की टीम ने अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय में दी। मुख्यमंत्री ने टीम को 24 घंटे में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था। एसआइटी की प्रारंभिक जांच में कई आरोपों की पुष्टि हुई है। न्यायिक अभिरक्षा में पीडि़ता के पिता की मौत से पहले इलाज में लापरवाही की बात भी सामने आई है।

राज्य सरकार की ओर से देर रात बताया गया कि पूरे मामले की सीबीआइ जांच करेगी। इसमें पीडि़ता के दुष्कर्म के आरोप और उसके पिता की हत्या शामिल है। लापरवाही बरतने के आरोप में सीओ शफीपुर कुंवर बहादुर सिंह को निलंबित कर दिया गया है। पीडि़ता के पिता के उपचार में लापरवाही पर सीएमएस डॉ. डीके द्विवेदी व ईएमओ डॉ. प्रशांत उपाध्याय को भी निलंबित किया गया है। डॉ. मनोज, डॉ. जीपी सचान और डॉ. गौरव अग्रवाल के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैैं।

Loading...
E-Paper