अमिताभ बच्चन के नाम से FAKE मैसेज : ‘एक ऐसा सच जो मैंने नहीं देखा’

बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन के नाम से वॉट्सएप और अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से एक संदेश प्रसारित हो रहा है जिसकी ज़िम्मेदारी लेने से अमिताभ की डिजिटल टीम ने मना करते हुए कहा है कि यह संदेश फेक है. इससे अमिताभ या अमिताभ की डिजिटल टीम के किसी सदस्य का कोई लेना—देना नहीं है.

पिछले दिनों से अमिताभ के नाम से एक संदेश सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें हिन्दू—मुस्लिम द्वेष भावना का जिक्र है. इस मैसेज को लेकर अमिताभ बच्चन के ट्विटर हैंडल से स्पष्टीकरण दिया गया है और इस मैसेज को जाली करार दिया गया है.

बच्चन के ट्विटर हैंडल पर इस जाली संदेश का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा गया है कि अमिताभ बच्चन की आधिकारिक डिजिटल टीम इस बारे में स्पष्ट करती है कि यह संदेश जाली है और जालसाज़ी के तहत रचा गया है. इस संदेश से अमिताभ बच्चन या उनकी डिजिटल टीम का कोई संबंध नहीं है. यूज़र और फैन्स इस संदेश को प्रसारित न करें और कृपया इसे डिलीट करें.

इस पोस्ट में यह भी उल्लेख है कि इस मामले की शिकायत साइबर अपराध शाखा में दर्ज करवाई जा चुकी है और इस जाली संदेश को रचने व प्रसारित करने के दोषियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा रही है. टीम सीनियर बच्चन द्वारा पोस्ट किये गये इस ट्वीट को अमिताभ बच्चन ने भी अपने ट्विटर हैंडल से रीट्वीट किया. गौरतलब है कि अमिताभ बच्चन कई सालों से सोशल मीडिया से जुड़े हैं और उनका ब्लॉग एवं ट्विटर हैंडल उनके फैन्स के बीच काफी लोकप्रिय है. अमिताभ आगामी फिल्म 102 नॉट आउट में ऋषि कपूर के पिता की भूमिका में नज़र आने वाले हैं.

Loading...
E-Paper