व्हाइट हाउस ने कहा- ट्रंप के पास मुलर को बर्खास्त करने का अधिकार

व्हाइट हाउस का कहना है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मानते हैं कि उनके पास विशेष अभियोजक रॉबर्ट मुलर को बर्खास्त करने की शक्ति है. रॉबर्ट मुलर 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के प्रचार अभियान और रूस के बीच कथित संबंधों की जांच कर रही टीम का नेतृत्व कर रहे हैं.

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स से मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान संवाददाताओं ने बार-बार पूछा कि क्या ट्रंप को लगता है कि उनके पास मुलर को पद से हटाने की शक्ति है. इसके जवाब में सैंडर्स ने कहा, “हमें कहा गया है कि राष्ट्रपति के पास यह फैसला लेने की शक्ति है.” हालांकि, सैंडर्स का यह बयान कई कानूनी विशेषज्ञों के रुख से विरोधाभासी है.

विशेषज्ञों का कहना है कि यदि ट्रंप, मुलर को बर्खास्त करना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें डिप्टी अटॉर्नी जनरल रॉड रोसेनस्टीन से अनुमति लेनी पड़ेगी. रॉड ने ही रूसी जांच का नेतृत्व करने के लिए मुलर को नामित किया था. सैंडर्स ने कहा कि व्हाइट हाउस इस तर्क से सहमत नहीं है कि सिर्फ रोसेनस्टेन के पास ही मुलर को बर्खास्त करने का अधिकार है. सैंडर्स ने कहा कि व्हाइट हाउस ने अपने कानूनी विशेषज्ञों और न्याय विभाग के कर्मियों की सलाह ली है.

रोसेनस्टेन पर रूसी जांच मामले में विशेष अभियोजक मुलर के कामकाज का निरीक्षण करने की जिम्मेदारी है क्योंकि अमेरिकी अटॉर्नी जनरल जेफ सेशंस मार्च 2017 में इस जिम्मेदारी से पीछे हट गए थे. गौरतलब है कि सेशंस पर आरोप है कि उन्होंने अमेरिका में रूस के राजदूत सर्गेई किसलक के साथ हुई अपनी कई बैठकों के बारे में अमेरिकी कांग्रेस को अवगत नहीं कराया था.

इसके बाद रोसेनस्टेन ने मुलर को अमेरिकी चुनाव के दौरान रूस के कथित हस्तक्षेप की जांच की जिम्मेदारी सौंपी थी. इस जांच के दौरान मुलर को ट्रंप के निजी अटॉर्नी माइकल कोहन के बारे में कुछ आपत्तिजनक जानकारी मिली थी, जिसे अटॉर्नी जनरल के ऑफिस से साझा करने के बाद सोमवार को कोहन के कार्यालयों और वह जिस होटल में ठहरे थे, वहां पर छापेमारी कर कई दस्तावेज जब्त किए गए.

Loading...
E-Paper