उत्तराखंड में बारिश के बाद भूस्खलन से सड़काें के बंद होने का सिलसिला जारी

उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद भूस्खलन यात्रियों के लिए मुसीबत बनती जा रही है।  बदरीनाथ हाईवे के बाद अब गंगोत्री एनएच भी सड़क पर मलबा आने से बंद हो गया है। उत्तरकाशी जिले में हो रही निरन्तर बारिश के चलते गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुक्की के पास बंद हो गया है। जिससे मार्ग के दोनों ओर यात्रीयों के वाहन जाम में फंस गए है। बीआरओ से मिली जानकारी के अनुसार मार्ग दोपहर 2 बजे तक सुचारू हो पायेगा।

ऋषिकेश बदरीनाथनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बीती रात बछेलीखाल व साकनी धार के बीच भारी चट्टानी मलबा आने से बाधित हो गया। एनएच द्वारा यहां पर दोनों ओर मशीनें लगाकर  करीब दस घंटे बाद राजमार्ग शनिवार सुबह साढ़े सात बजे तक खोला गया। पुलिस द्वारा बीती रात मलेथा सहित देवप्रयाग से चाका गजा होकर  ऋषिकेश के लिए यातायात डायवर्ट किया गया।

शुक्रवार रात करीब साढ़े 9 बजे साकनी धार व बच्छेलीखल के बीच पहाड़ी से भारी चट्टानी मलबा राजमार्ग पर जा गिरा।जिससे कई मीटर हिस्से तक भारी बोल्डर पथर फैल गए। एनएच न श्रीनगर द्वारा मशीनों से मलबा व बोल्डरों को रात में हटाने का कार्य शुरू किया गया। मगर लगातार चट्टान गिरने का सिलसिला जारी होने से यहां मलबा सफाई का बंद करना पड़ा।

एसएचओ देवप्रयाग देवराज शर्मा के मुताबिक  राजमार्ग बाधित होने पर श्री नगर व पौड़ी की ओर से आने वाले यातायात को चाका गजा की ओर डा य वर्ट कर ऋषिकेश भेजा गया। उधर एनएच द्वारा दस घंटे की मशक्कत के बाद शनिवार सुबह साढ़े सात बजे तक मलबा हटाकर यातायात  बहाल किया गया।

जिसके बाद देर रात ऋषिकेश की ओर से चले वाहन यहां से निकल पाए। राजमार्ग बाधित होने से  शनिवार को सब्जी, दूध आपूर्ति भी देर से हुई।जबकि सुबह की  नियमित बस सेवाएं भी प्रभावित रही। एसएचओ के अनुसार राजमार्ग बन्द  होने की सूचना पर ऋषिकेश की ओर जाने वाले वाहनो को यात्रियों की सुरक्षा की दृष्टि से देवप्रयाग में ही रोक दिया गया था।

 

Loading...
E-Paper