पुरुष लॉन्ग जंप में भारत के मुरली श्रीशंकर ने मचाया धमाल, सिल्वर मेडल किया अपने नाम  

पुरुष लॉन्ग जंप में भारत के मुरली श्रीशंकर ने धमाल मचा दिया है। उन्होंने ट्रैक एंड फील्ड में सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया है। 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स में इंडिया का यह 19वां मेडल है। श्रीशंकर ने पुरुष लॉन्ग जंप के फाइनल में 8।08 मीटर के बेस्ट जंप के साथ सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया है। इंडिया के लॉन्ग जंपर मुरली श्रीशंकर ने इंडिया को ट्रैक एंड फील्ड में दूसरा मेडल दिलाया है। श्रीशंकर ने मेन्स लॉन्ग जंप के फाइनल में 8।08 मीटर के बेस्ट जंप के साथ सिल्वर मेडल जीत लिया है। जिसके साथ श्रीशंकर कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में लॉन्ग जंप इवेंट में भारत के लिए मेडल जीतने वाले भारत के पहले पुरुष एथलीट बन चुके है।

मुरली श्रीशंर से पहले महिलाओं में पूर्व एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज और प्रज्यूषा मलाइखल पदक अपने नाम कर चुकी है। अंजू बॉबी ने 2002 राष्ट्रमंडल खेलों में लॉन्ग जंप में कांस्य और प्रज्यूषा ने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।  गौरतलब है कि यह बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में ट्रैक एंड फील्ड में इंडिया का दूसरा मेडल है। जिसके पहले तेजस्विन शंकर ने हाई जंप में भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

फाइनल में मेडल से चूके अनीस याहिया:

इंडिया के एक और एथलीट मोहम्मद अनीस याहिया फाइनल में मेडल जीतने से पीछे रह गए थे। वह 6 कोशिशों के उपरांत 7.97 के बेस्ट अटैम्प्ट के साथ 5वें नंबर पर रहे। याहिया ने पहले तीन अटैम्प्ट में 7.72 मीटर का बेस्ट अटैम्प्ट किया। हालांकि, उनका पहला कोशिश फाउल रहा। वहीं दूसरे प्रयास में उन्होंने 7.65 मीटर का जंप लगा चुके है। जिसके उपरांत तीसरे में उन्होंने 7.72 मीटर का जंप लगाया। चौथे अटैम्प्ट में याहिया ने 7.74 मीटर और 5वें अटैम्प्ट 7.58 मीटर और छठे अटैम्प्ट में 7.97 मीटर का जंप लगाई।

 

Loading...
E-Paper