दहेज और बाल विवाह के खिलाफ नीतीश सरकार, 13 हजार KM में 4 करोड़ लोगों ने बनाई मानव श्रृंखला

21 जनवरी को पूरे बिहार में दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाई जा रही है। ये मानव श्रृंखला 13660 किलोमीटर लंबी होगी। बता दें कि मानव श्रृंख्ला में सीएम नीतीश कुमार ने भी हिस्सा लिया। बता दें कि बिहार ने दो बड़ी सामाजिक कुरितियों के खिलाफ मुहिम छोड़ दिया है। जनता के बीच इस बात को फैलाने के लिए मानव श्रृंखला बनाई जा रही है। पटना के गांधी मैदान में नीतीश कुमार सहित बिहार में एनडीए के कई बड़े नेता भी इस आयोजन में शामिल हो रहे हैं।

दहेज और बाल विवाह के खिलाफ नीतीश सरकार, 13 हजार KM में 4 करोड़ लोगों ने बनाई मानव श्रृंखला

 

 सीएम नीतीश कुमार ने गुब्बारा उड़ा कर इस कार्यक्रम की शुरूआत की। उनके साथ डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी समेत बिहार सरकार के कई मंत्री भी मौजूद हैं। दहेज प्रथा और बाल विवाह पर रोक लगाए जाने को लेकर बन रही मानव श्रृंखला में महात्मा गांधी सेतु के रास्ते राजधानी पटना और वैशाली के लोग एक साथ जुड़ेंगे। पटना के लोगों में मानव श्रृंखला को लेकर खासा उत्साह है। सुबह से ही लोगों का गांधी मैदान में पहुंचना जारी है। पटना की सड़कों पर भी सुरक्षा से लेकर स्वास्थ्य सेवा तक की व्यवस्था की गई है। पटना के गांधी मैदान में स्कूली बच्चों समेत महिलाओं का आना लगातार जारी है।

पटना के डीएम कुमार रवि ने बताया कि पटना जिले में मानव श्रृंखला 598 किलोमीटर लंबी होगी। पटना के गांधी मैदान में सीएम खुद इस मानव श्रृंखला का हिस्सा बन रहे हैं। बिहार के हर जिले में भी अलग-अलग लोगों और मंत्रियों को मानव श्रृंखला को सफल बनाने की जिम्मेवारी दी गई है। मालूम हो कि इससे पहले भी बिहार में शराबबंदी के समर्थन में मानव श्रृंखला बनाई गई थी जो सफल रही थी।

 

 

Loading...
E-Paper