ब्रिटेन के राजकुमार प्रिंस एंड्रयू पर लगा रेप का आरोप, दोषी पाए जाने पर मिल सकती है सजा

वॉशिंगटन: ब्रिटेन के राजकुमार प्रिंस एंड्रयू (Prince Andrew) की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अदालत ने उनके खिलाफ दायर यौन शोषण के मामले को खारिज करने से इनकार कर दिया है. यानी अब उन्हें मुकदमे का सामना करना होगा और यदि दोषी पाए जाते हैं तो सजा भी भुगतनी पड़ेगी. न्यूयॉर्क की फेडरल कोर्ट के जज ने अपने फैसले में कहा कि वर्जीनिया गिफ्रे (Virginia Giuffre) द्वारा दर्ज किए गए केस को खारिज नहीं किया जा सकता, प्रिंस एंड्रयू को उसका सामना करना होगा.

‘शिकायत में कुछ भी अस्पष्ट नहीं’

CNN की रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटिश शाही परिवार (British Royal Family) के सदस्य और ड्यूक ऑफ यार्क प्रिंस एंड्रयू की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायाधीश लुईस कपलान ने कहा वर्जीनिया गिफ्रे की शिकायत में कुछ भी अस्पष्ट नहीं है. इसलिए उनकी तरफ से दायर केस खारिज नहीं किया जा सकता. गौरतलब है कि गिफ्रे ने आरोप लगाया है कि जब वह 17 साल की थीं तब प्रिंस एंड्रयू ने उसका यौन शोषण किया था.

प्रिंस एंड्रयू पर हैं ये आरोप

पीड़ता वर्जीनिया गिफ्रे ने अगस्त में प्रिंस एंड्रयू पर मुकदमा दायर करते हुए आरोप लगाया था कि 2001 में फाइनेंसर जेफरी एपस्टीन की मदद से प्रिंस ने उनका यौन शोषण किया था. अपनी शिकायत में उन्होंने कहा है कि प्रिंस एंड्रयू को अच्छे से पता था कि मैं उस वक्त नाबालिग थी. प्रिंस ने तीन अलग-अलग स्थानों, यूएस वर्जिन आइलैंड्स में एपस्टीन के निजी द्वीप, मैनहट्टन में अपनी हवेली और लंदन में अपनी पूर्व प्रेमिका के घर पर मेरा यौन शोषण किया था. बता दें कि यौन शोषण के लिए महिलाओं की तस्करी के आरोपी 66 वर्षीय एपस्टीन ने 2019 में मैनहट्टन जेल में आत्महत्या कर ली थी.

प्रिंस की सभी दलीलें हुईं खारिज

प्रिंस ने सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए अदालत से केस खारिज करने की अपील की थी. उन्होंने अपनी याचिका में कहा था की यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिला के केस को खारिज किया जा सकता है क्योंकि अब वह अमेरिका में नहीं रहती. हालांकि, न्यायाधीश ने सभी दलीलों को खारिज करते हुए कहा कि प्रिंस को मुकदमे का सामना करना होगा.

Loading...
E-Paper