चुनाव से पहले अखिलेश यादव को याद आई हाथरस की बेटी, ट्वीट कर कही यह बात

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। बीते साल हाथरस में हुए रेप कांड को वह अब बड़ा सियासी मुद्दा बनाने की तैयारी में हैं। जी दरअसल आज उन्होंने ट्वीट किये हैं और पार्टी कार्यकर्ता और सहयोगी दलों से अपील है कि वह हर महीने की 30 तारीख को ‘हाथरस की बेटी स्मृति दिवस’ मनाएं। जी दरअसल उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा है, ‘जिस तरह से यूपी की बीजेपी सरकार ने पिछले साल सितंबर में बलात्कार पीड़िता के शव को जलाने का कुकृत्य किया था, उसकी याद सरकार को दिलाए।’

इसी के साथ अखिलेश यादव ने यह भी लिखा है, ‘हाथरस की घटना से बीजेपी का दलित व महिला विरोधी चेहरा बेनक़ाब हुआ है।’ जी दरअसल यूपी में चुनाव होने हैं ऐसे में राज्य में समाजवादी पार्टी छोटे छोटे मामलों को उठाकर राज्य की बीजेपी सरकार को घेर रही है। वहीं राज्य में एसपी उन मुद्दों को उठा रही है, जो कभी राज्य सरकार के लिए बड़ी मुसीबत बने और इसके जरिए वह अब चुनाव से पहले राज्य सरकार को घेरने की रणनीति पर काम कर रही है। आपको याद हो तो बीते साल 14 सितंबर को राज्य के हाथरस जिले में चार लोगों ने एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था और उसके बाद उसकी बेरहमी से पिटाई की थी।

उसके बाद इलाज के दौरान 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई। वहीं उसके बाद राज्य हाथरस पुलिस ने परिवार की मंजूरी के बगैर उसका दाह संस्कार कर दिया, ताकि ये मामला दब जाए। हालाँकि ऐसा होने के बाद राज्य में इस मामले ने सियासी रंग ले लिया और कांग्रेस से लेकर समाजवादी पार्री ने सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया था।

Loading...
E-Paper