सीतापुर-बुढ़वल रेल खण्ड के दोहरीकरण परियोजना को रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा किया गया सम्पन्न

सीतापुर पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल द्वारा यात्री सुविधाओं के उन्नयन एवं परिचालन सुगमता हेतु मूलभूत ढ़ांचे में विस्तार के क्रम में सीतापुर-बुढ़वल रेल खण्ड के दोहरीकरण परियोजना के अंतर्गत आज सीतापुर-परसेंडी स्टेशनों के मध्य किमी 16 .75 किमी रेल खंड का दोहरीकरण एवं 25,000 वोल्ट ए.सी नई विद्युतकर्षण लाइन युक्त रेल खण्ड क्षमता के विद्युतीकरण का संरक्षा परीक्षण रेल संरक्षा आयुक्त, पूर्वी परिक्षेत्र, मोहम्मद लतीफ खान द्वारा सम्पन्न किया गया। निरीक्षण के दौरान पूर्वाेत्तर रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) श्री राजीव कुमार, प्रमुख मुख्य विद्दयुत इंजीनियर/निर्माण लखनऊ श्री एस के अग्रवाल, मंडल रेल प्रबन्धक लखनऊ डा0 मोनिका अग्निहोत्री, मुख्य इंजीनियर ए के सिंह, मुख्य विद्युत इंजीनियर निर्माण श्री ओ.पी.सिंह, मुख्य सिंग्नल इंजीनियर ए.के.वर्मा ,उप रेल संरक्षा आयुक्त श्री बलबीर यादव, उप रेल संरक्षा आयुक्त श्री वी.के.शर्मा समेत निर्माण संगठन के अधिकारी गण उपस्थित थे ।

रेल संरक्षा आयुक्त ने सर्वप्रथम सीतापुर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया और दोहरीकृत एवं विद्युतीकृत रेल खण्ड के मानक के अनुरूप पैनल रूम, सीतापुर यार्ड प्लान, न्यूट्रल सेक्शन, पावर सब स्टेशन, स्टेशन वर्किंग रूल, पैदल उपरिगामी पुल, प्लेटफार्म क्लियरेंस, पॉइंट क्रासिंग, सिगनलिंग ,बर्थिंग ट्रैक बैलास्ट, ओवर हेड ट्रैक्शन की ऊँचाई ,फाउलिंग मार्क, पैनल इन्टरलॉकिंग, फीडर पावर सप्लाई वितरण प्रणाली तथा नियंत्रण फीडर आइसोलेशन आदि की संरक्षा परखी ।

तदुपरान्त रेल संरक्षा आयुक्त अधिकारियों समेत 11:30 बजे मोटर ट्राली से सीतापुर-परसेंडी रेल खण्ड स्टेशनों के मध्य दोहरीकरण एवं विद्युतीकृत के निमित्त बनी नई लाइन के संरक्षा परीक्षण हेतु रवाना हुए। इस दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने सीतापुर-परसेंडी स्टेशनों के मध्य ब्रिज सं0 132,एस.पी ; सीतापुर-तप्पा खजुरिया के मध्य समपार फाटक सं0 89 बी, कर्व सं0 27 का झुकाव मापा तथा उन्होंने समपार फाटक सं0 87सी एवं इन्टरलॉक समपार फाटक सं0 84ए का संरक्षा निरीक्षण किया तथा दोहरीकृत/विद्युतीकृत रेल खण्ड की कार्य प्रणाली के अनुरुप सभी गेट मैनो की कार्यशीलता एवं सजगता को परखा।

इसके पश्चात रेल संरक्षा आयुक्त तप्पाखजुरिया रेलवे स्टेशन पहुॅचने पर दोहरीकृत/विद्युतीकृत के मानकों के अनुरूप क्रॉसओवर लाइन विद्युत कर्षण लाइन फिटिंग्स, ओवर हेड ट्रैक्शन लाइन की मानक ऊँचाई, समपार फाटकों से उचित दूरी, स्टेशन वर्किंग रुल के अपडेटेशन आदि का व्यापक निरीक्षण किया और संरक्षा के सभी बिन्दुओं को परखा ।
रेल संरक्षा आयुक्त ने अपने निरीक्षण के दौरान तप्पाखजुरिया-परसंेड़ी स्टेशनों के मध्य पर रेलवे यार्ड, मेजर ब्रिज स0 120, ‘‘सेज‘‘ सं0 42, माइनर ब्रिज सं0 116 , पॉइंट्स एवं क्रॉसिंग्स, रेलवे लाइन फिटिंग्स, सिग्नल, दोहरीकृत/विद्युतीकृत के मानकों के अनुरूप विद्युत कर्षण लाइन का गहन निरीक्षण किया। इसके अतिरिक्त परसेंडी स्टेशन पर स्टेशन अधीक्षक कार्यालय, पैनल रूम, रिले रूम आदि का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के उपरान्त अधिकतम गति से दोहरीकृत विद्युत लाइन पर विद्युत इंजन युक्त स्पेशल ट्रेन से रेल संरक्षा आयुक्त द्वारा परसेंडी – सीतापुर के मध्य गति परीक्षण सफल रहा। इस दौरान सी आर एस स्पेशल ने 120 किमी प्रति घंटे की उच्चतम गति को परसंडी-सीतापुर स्टेशनों की दूरी मात्र 20 मिनटों में तय की ।

आम जनता से अपील की जाती है कि आज से इस रेलखण्ड को दोहरीकृत एवं विद्युतीकृत समझें और नए विद्युतीकृत रेलवे ट्रैक तथा ओवर हेड लाइन से सुरक्षित दूरी बनाये रखें । इस अवसर पर लखनऊ मण्डल के वरिष्ठ मण्डल इंजीनियर/ समन्वय सुमित वत्स, वरिष्ठ मण्डल वाणिज्य प्रबंधक अम्बर प्रताप सिंह, वरिष्ठ मण्डल परिचालन प्रबंधक अनूप कुमार सिंह, वरिष्ठ मण्डल संरक्षा अधिकारी श्री अजय प्रताप सिंह, वरिष्ठ मण्डल इंजीनियर/।। श्रीमती मानसी मित्तल, वरिष्ठ मण्डल यांत्रिक इंजीनियर / श्री रणविजय प्रताप , वरिष्ठ मण्डल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर श्री एस.डी पाठक, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर/सा0 श्री धनन्जय मिश्रा, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर (टीआरडी) श्री धर्मेन्द कुमार यादव, वरिष्ठ मण्डल विद्युत इंजीनियर/आपरेशन श्री देवेन्द्र कुमार वर्मा, वरिष्ठ मण्डल सुरक्षा आयुक्त श्रीअमित प्रकाश मिश्रा एवं अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Loading...
E-Paper