20 जून 2021 का पंचांग, जानिए आज का शुभ मुहूर्त और तिथि

हिन्दी पंचांग के अनुसार, आज ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि है। आज 20 जून 2021 और दिन रविवार है। आज गंगा दशहरा है। आज के दिन ही राजा भगीरथ की कठिन तपस्या से गंगा जी का स्वर्ग से धरती पर अवतरण हुआ था। आज गंगा स्नान करने से 10 प्रकार के पापों का नष्ट होता है। आज गुरु वक्री हो रहे हैं, इसका प्रभाव लोगों के जीवन पर पड़ेगा। आज शाम तक रवि योग है। आज रविवार के दिन आपको सूर्य देव की उपासना करनी चाहिए। उनकी कृपा से जीवन में सुख, समृद्धि, सफलता, यश और कीर्ति में वृद्धि होती है। आज के पंचांग में राहुकाल, शुभ मुहूर्त, दिशाशूल के अलावा सूर्योदय, चंद्रोदय, सूर्यास्त, चंद्रास्त आदि के बारे में भी जानकारी दी जा रही है।

आज का पंचांग

दिन: रविवार, ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, दशमी तिथि।

आज का दिशाशूल: पश्चिम।

आज का राहुकाल: शाम 04:30 बजे से 06:00 बजे तक।

आज की भद्रा: रात्रि के 02:57 बजे से 21 जून को दोपहर 01:32 बजे तक।

आज का पर्व एवं त्योहार: श्री गंगा दशहरा, गंगा जी की उत्पत्ति वृष लग्न में।

विशेष: गुरु वक्री।

विक्रम संवत 2078 शके 1943 उत्तरायन, उत्तरगोल, ग्रीष्म ऋतु ज्येष्ठ मास शुक्ल पक्ष की दशमी 16 घंटे 22 मिनट तक, तत्पश्चात् एकादशी चित्रा नक्षत्र 18 घंटे 50 मिनट तक, तत्पश्चात् स्वाती नक्षत्र परिघ योग 20 घंटे 59 मिनट तक, तत्पश्चात् शिव योग कन्या में चंद्रमा 07 घंटे 43 मिनट तक तत्पश्चात् तुला में।

सूर्योदय और सूर्यास्त

आज के दिन सूर्योदय प्रात:काल 05 बजकर 24 मिनट पर हुआ है, वहीं सूर्यास्त शाम को 07 बजकर 22 मिनट पर होगा।

चंद्रोदय और चंद्रास्त

आज का चंद्रोदय दोपहर 02 बजकर 33 मिनट पर होगा। चंद्र के अस्त का समय देर रात 02 बजकर 17 मिनट पर है।

आज का शुभ समय

रवि योग: आज प्रात: 05 बजकर 24 मिनट से शाम 06 बजकर 50 मिनट तक।

अभिजित मुहूर्त: आज दिन में 11 बजकर 55 मिनट से दोपहर 12 बजकर 51 मिनट तक।

विजय मुहूर्त: दोपहर 02 बजकर 42 मिनट से दोपहर 03 बजकर 38 मिनट तक।

अमृत काल: आज दोपहर 12 बजकर 52 मिनट से दोपहर 02 बजकर 21 मिनट तक।

आज ज्येष्ठ शुक्ल दशमी है। आज रविवार के दिन सूर्य चालीसा का पाठ करना और सूर्य देव के मंत्रों का जाप करना उत्तम माना जाता है। आज आप कोई नया कार्य करना चाहते हैं तो शुभ मुहूर्त का ध्यान रखें।

Loading...
E-Paper