यूपी में शराब 10 रुपये से लेकर 40 रुपये तक हुई मंहगी, सरकार ने लगाया कोरोना सेस

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में आज से जाम टकराना महंगा हो गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने शराब पर कोरोना सेस लगाने का फैसला किया है। इससे राज्य में शराब एकबार फिर महंगा हो गया है। दरअसल राज्य सरकार ने शराब पर कोरोना सेस कोरोना और लॉकडाउन के चलते प्रभावित हो रहे राजस्व की कमी को पूरा करने के लिए यह फैसला किया है। इसके लिए आबकारी विभाग ने नई नीति में एक बार फिर संशोधन किया है। संशोधन के बाद यूपी में शराब 10 रुपये से लेकर 40 रुपये तक मंहगी हो गई है।

राज्य के वित्त अधिकारियों के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर से वीकेंड लॉकडाउन और लॉकडाउन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में विभाग को राजस्व का घाटा हो रहा है। इसे पूरा करने के लिए आबकारी नीति 2021-22 में संशोधन किया गया है। इसे संशोधित करके सेस बढ़ाया गया है। इसके कारण अब शराब 10 रुपये से लेकर 40 रुपये तक मंहगी हो गई है।

कोविड सेस लगने के बाद शराब की कीमतें 10-40 रुपये तक बढ़ गई है। आबकारी नीति 2021-22 में संशोधन करते हुए शासन ने रेगुलर कैटेगरी की शराब पर 10 रुपये प्रति 90 एमएल पर विशेष अतिरिक्त प्रतिफल शुल्क लगा दिया है। इसी तरह प्रीमियम कैटेगरी की शराब पर भी प्रति 90 एमएल पर 10 रुपये, सुपर प्रीमियर पर प्रति 90 एमएल पर 20 रुपये, स्कॉच पर प्रति 90 एमएल पर 30 रुपये और इंपोर्टेड शराब पर भी प्रति 90 एमएल 40 रुपये अतिरिक्त प्रतिफल शुल्क लगाया गया है।

गौरतलब है कि कोरोना संकट से जूझ रही यूपी सरकार का खजाना तेजी से खाली हो रही है। इस बीच सरकार राजस्व के नए उपाय तलाशने की कोशिश कर रही है। ऐसे मुश्किल दौर में राजस्व बढ़ाने के लिए प्रदेश सरकार ने कोविड सेस लगा दिया है। 

Loading...
E-Paper